Friday , December 6 2019 8:59
Breaking News

टाटा से अपनी विदाई के 2 वर्ष पूरे होने प्रारम्भ किया वेंचर

टाटा समूह के चेयरमैन पद से हटाए जाने के दो वर्ष पूरे होने के मौके पर बुधवार को साइरस मिस्त्री ने स्टार्टअप खज़ाना मिस्त्री वेंचर्स एलएलपी प्रारम्भ करने की घोषणा की है यह खज़ाना स्टार्टअप फाइनेसिंगऔर विकास में मदद करेगा  अरबपति साइरस  शापोर मिस्त्री इसे प्रमोट करेंगे दोनों ही शापोरजी पल्लोनजी समूह के प्रवर्तक हैं जिसकी टाटा संस में 18.4 फीसदी हिस्सेदारी हैImage result for टाटा समूह के चेयरमैन पद

चौथे सबसे धनी हिंदुस्तानियों (सामूहिक रूप से) द्वारा प्रवर्तित इस नए उपक्रम में नकदी की कमी नहीं रहेगी फोर्ब्स की 2018 की सूची के अनुसार मिस्त्री परिवार राष्ट्र में चौथा सबसे धनी परिवार है इनकी कुल संपदा 18.7 अरब डॉलर की है साइरस मिस्त्री ऑफिस ने बयान में बोला कि यह नया उद्यम कंपनियों को रणनीतिक ज्ञान  सलाह देगा नए उपक्रमों के विकास में मदद करेगा  राष्ट्र  विदेश के स्टार्टअप को शुरुआती पूंजी उपलब्ध कराएगा

समझा जाता है कि मिस्त्री बंधु इस नए उपक्रम में कई सौ करोड़ रुपये डालने को तैयार हैं साइरस मिस्त्री पर्सनल रूप से इसका कामकाज देखेंगे बयान में बोला गया है कि आशीष अय्यर नयी कंपनी के मुख्य कार्यपालक ऑफिसर (सीईओ) होंगे अय्यर इससे पहले बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप में वैश्विक लीडर (रणनीतिक प्रैक्टिस) रह चुके हैं बयान में साइरस मिस्त्री के हवाले से बोला गया है कि अय्यर विभिन्न क्षेत्रों की कई कंपनियों में कार्य कर चुके हैं  उनके पास विभिन्न चीजों मसलन रणनीति, गो टु मार्केट, डिजिटल  नवप्रवर्तन का खासा अनुभव है  मैं उनके को लेकर बहुत ज्यादा रोमांचित हूं

मिस्त्री वेंचर्स के लिए अपने दृष्टिकोण का खुलासा करते हुए मिस्त्री ने कहा, “हमारा इरादा सकारात्मक सामाजिक असर के साथ मुनाफे का है यह वस्तु हमारे द्वारा प्रवर्तित या हमारी भागीदारी वाले सभी उपक्रमों के साथ जुड़ी होगी ”

अपनी रुचि के क्षेत्रों का खुलासा करते हुए उन्होंने बोला कि मिस्त्री वेंचर्स कंपनियों में निवेश करने तक सीमित नहीं रहेगी कई प्रमुख वैश्विक  लोकल प्रवृत्ति की व्याख्या  उनके उद्योग  कंपनियों पर पड़ने वाले असर को समझने के बाद हम उन कारोबार को आगे बढ़ने में मदद देंगे, भागीदारी करेंगे  विभिन्न क्षेत्रों में निवेश करेंगे मिस्त्री ने बोला कि कंपनी स्टार्टअप्स की सहायता के लिए संरक्षण  उन्हें विशिष्ट प्रकार की क्षमता प्रदान करने में मदद करेगी इससे स्टार्टअप्स को कारोबार के एरिया में उचित रणनीति बनाने में मदद मिलेगी उल्लेखनीय है कि टाटा संस के निदेशक मंडल ने 24 अक्टूबर, 2016 को एक दंग करने वाला कदम उठाते हुए मिस्त्री को चेयरमैन पद से बर्खास्त कर दिया था

वह दिसंबर, 2012 में टाटा संस के चेयरमैन बने थे समूह के 150 वर्ष के इतिहास में मिस्त्री चेयरमैन बनने वाले टाटा परिवार से बाहर के दूसरे आदमी थे उनके पहले 1934-38 के दौरान टाटा समूह से बाहर के नवरोजी सकलतवाला समूह के चेयरमैन थे मिस्त्री  टाटा दोनों ने एक दूसरे को न्यायालय में घसीटा है मिस्त्री को चेयरमैन पद  टाटा की कंपनियों के निदेशक मंडल से हटाए जाने का मामला राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी), दिल्ली में लंबित है इससे पहले राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) की मुंबई पीठ ने मिस्त्री की याचिकाओं को खारिज कर दिया था एनसीएलएटी द्वारा इस पर 31 अक्टूबर को निर्णय सुनाए जाने की उम्मीद है

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!