उत्तरांखड के सरकारी-प्राइवेट स्कूलों मे हुआ ऐसा, शिक्षा विभाग ने शुरू की जांच

Share & Get Rs.

सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में चल रहे एडमिशन घपले पर शिक्षा विभाग ने जांच बिठा दी है। आरोप है कि प्रदेश में कई निजी और सरकारी स्कूल छात्रों से उनके पूर्व के स्कूल का ट्रांसफर सर्टिफिकेट (टीसी) लिए बिना कक्षा एक से नौ तक एडमिशन करा लिए हैं। सीबीएसई-आईसीएसई स्कूलों की शिकायत पर विभाग ने जांच का फैसला किया।

कुछ समय पूर्व हाईकोर्ट भी इस बाबत कार्रवाई के आदेश दे चुका है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी ने सभी सीईओ को जांच के आदेश दिए हैं। इस मामले में सीबीएसई एंड आईसीएसई स्कूल्स चेयरमैंस एसोसिएशन ने महानिदेशक-शिक्षा बंशीधर तिवारी से शिकायत की थी।

एसोसिएशन का आरोप है कि हरिद्वार में ही तमाम स्कूल, छात्रों से टीसी लिए बिना एडमिशन कर रहे हैं। इस संबंध में एक याचिका की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट भी कार्रवाई के निर्देश दे चुका है। एसोसिएशन का का कहना है बिना टीसी लिए एडमिशन करना नियमानुसार गलत है। साथ ही छात्रों से एडमिशन के रूप में मोटी वसूली भी हो रही है।

पिछले वर्षों में नए एडमिशन वाले छात्रों के दस्तावेजों की जांच होगी। बिना टीसी प्रवेश पाने वालों के अभिभावकों से भी पूछताछ होगी।
-ऐसे स्कूलों में पीटीए से शिकायत के संबंध में लिखित प्रमाणपत्र लिया जाएगा और प्रबंध समिति को भी इस बाबत प्रमाणपत्र देना होगा।
-यदि किसी स्कूल में फर्जी टीसी बुक मिली तो सबंधित स्कूल के प्रधानाचार्य को इस बाबत प्रमाणपत्र देना होगा।

Share & Get Rs.