Breaking News

इस देश में चाहकर भी अडरवियर और बिकिनी नहीं पहन सकती महिलाएं, जानकर हैरान हो जायेंगे ऐसा सच

Loading...

आपने महिलाओं के कई प्रकार के पहनावे के संबंध में कानून के बारे में सुना होगा लेकिन इस दुनिया में ऎसे देश भी है जहां महिलाएं चाहकर भी अडरवियर नहीं पहन सकती। कजाकिस्तान, बेलारूस और रूस में महिलाओं को अंडरवियर पहनने से रोकने का कानून है। यानी इन तीनों देशों में महिलाओं के अंडरवियर पहनने पर पाबंदी लगी हुई है।

यहां महिलाओं को बिना अंडरवियर के ही रहना पडता है। सोवियत रूस से अलग होकर बने हुए ये देश कजाकिस्तान, बेलारूस तथा रूस हैं। यहां महिलाओं द्वारा अंडरवियर पहनने पर कानूनी तौर पर रोक लगी हुई है जिसके खिलाफ अब तक कई आंदोलन भी किए जा चुके हैं लेकिन सरकार मानती ही नहीं।

Loading...

महिलाओं द्वारा लेस वाले अंडरवियर पहनने पर रोक लगाने वाला यह अनोखा कानून 2011 में बनाया गया था जो आज तक भी कायम है। इस कानून के तहत यहां लेस वाले अंडरवियरों का उत्पादन, आयात और बिक्री पर पूर्ण पाबंदी इन देशों में लगी हुई है।

महिलाएं इन बातो का ध्यान ज्यादा रखती है और बेहतर तरीके से रखती हैं। महिलाये अपने अपने कपड़ो को लेकर काफी सीरियस होती है क्यों की उनकी छोटी सी गलती भी ऑफिस या अन्य कहीं कपड़ो को लेकर मजाक बन सकता है।

एक तरफ महिलाये अपने पहनावे को लेकर काफी परेशान होती है उसी बिच एक देश ऐसा भी है जहा पर महिलाओ को अंडरवियर पहनने पर पाबंदी लगी हुई है।

महिलाओ को अंडरवियर पहनने पर बेलारूस, कजाकिस्तान और रूस जैसे देशों में इस तरह के अजीबो गरीब नियम बनाये गए है। इन देशों मेंबाकायदा महिलाओ के अंडरवियर न पहनने का कानून भी बनाया गया है।

महिलाओं को अंडरवियर न पहनने का यह कानून वाकई अजीबो गरीब है।

इन देशो में महिलाये चाहकर भी अंडरवियर पहन नहीं सकती हैं।

इन देशो में बनाये गए इस तरह के कानून के खिलाफ वह की महिलाओ ने कई तरह के आंदोलन भी किए हैं। लेकिन उन देशो की सरकार पर पहिलाओँ के इन आंदोलनों का कोई भी फर्क नहीं पड़ा।

इन देशो में यह अजीबो ग़रीब कानून 2011 में बनाया गया था।

इस कानून के अंतर्गत महिलाओं को लेस वाले अंडरवियर पहनने पर रोक लगा दी गई जिसे आज भी वहा की महिलाये इस कानून का पालन कर रही है।

सरकार के द्वारा बनाये गए इस कानून के अनुसार लेस वाले अंडरवियरों के उत्पादन, बिक्री और आयात पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगी हुई है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!