Breaking News

पाक के गृह मंत्री ने ही कर दिया इमरान खान को बेनकाब, इस बड़े झूठ का हुआ पर्दाफाश

Loading...

भारत के खिलाफ हर मोर्चे पर फजीहत झेलने वाला पाकिस्‍तान (Pakistan) भले ही अपनी जनता को ये झूठा दिलासा दे रहा हो कि वह कश्‍मीर के मुद्दे पर अंतरराष्‍ट्रीय जगत का ध्‍यान खींचने में सफल रहा लेकिन गृह मंत्री एजाज अहमद शाह ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री इमरान खान को कठघरे में खड़ा किया है.

उन्‍होंने कश्‍मीर मुद्दे पर पाकिस्‍तान सरकार की विफलता के लिए इमरान खान और उनके सिपहसालारों को जिम्‍मेदार ठहराया है. दरअसल उन्‍होंने स्‍वीकार किया है कि कश्‍मीर मुद्दे पर इस्‍लामाबाद अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय का समर्थन हासिल करने में नाकाम रहा. शाह ने इमरान खान समेत सत्‍ताधारी कुलीनतंत्र (Ruling Elite) पर पाकिस्‍तान की इमेज को बर्बाद करने का आरोप लगाया.

Loading...

उनसे जब पूछा गया कि बेनजीर भुट्टो, परवेज मुशर्रफ और अन्‍य क्‍या उस सत्‍ताधारी कुलीनतंत्र का हिस्‍सा रहे हैं तो ISI के चीफ रहे एजाज अहमद शाह ने कहा, ”सभी जिम्‍मेदार हैं. पाकिस्‍तान को अब आत्‍ममंथन करने की दरकार है.” शाह का बयान ऐसे वक्‍त आया है जब जेनेवा में संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के 42वें सत्र की बैठक में भारत के कूटनीति के सामने पाकिस्‍तान को एक बार फिर मुंह की खानी पड़ी है.

UNHRC में पाकिस्‍तान की नाकामी
जेनेवा में पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि भारत ने कश्‍मीर पर गैर-कानूनी तरीके से कब्‍जा कर रखा है. वहां मानवाधिकारों का हनन किया जा रहा है. पूरे कश्‍मीर को जेल बनाकर रख दिया गया है. यहां तक कि आपातकालीन मेडिकल सुविधाएं नहीं प्रदान की जा रही हैं. उन्‍होंने कई विदेशी मीडिया अखबारों की रिपोर्ट का उद्धरण भी दिया. उन्‍होंने ये भी कहा कि इन वजहों से कश्‍मीर का मुद्दा भारत का आंतरिक मसला नहीं है बल्कि ये अंतरराष्‍ट्रीय मसला है. हालांकि उसके बाद शाह महमूद कुरैशी ने पत्रकारों से बात करते हुए पाकिस्‍तान के रुख से इतर कश्‍मीर को ‘भारत का जम्‍मू और कश्‍मीर’ राज्‍य कहा. पाकिस्‍तान अब तक कश्‍मीर को ‘भारत अधिकृत कश्‍मीर’ बताता रहा है.

उसके बाद संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में भारत की ओर सेक्रेटरी ईस्ट विजय ठाकुर सिंह ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया. ठाकुर ने कहा, “कश्मीर पर पाकिस्तान ने सिर्फ झूठ बोला है. जम्मू-कश्मीर हमारा आंतरिक मसला है, बाहरी दखल बर्दाश्त नहीं. कश्मीर में हालात सामान्य हो रहे हैं. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Article 370) को हटाने के फैसले को भारी समर्थन मिला है. संसद में बहस के बाद 370 हटाया. आतंकवाद पर निर्णय की कार्रवाई का वक्त है. पाकिस्तान अपनी जमीन पर आतंकी संगठनों पर सख्त कार्रवाई करे.” भारत ने कहा, “मानवाधिकार पर पाकिस्तान के आरोप बेबुनियाद हैं. पाकिस्तान आतंक का केंद्र है, पाकिस्तान आतंकवादियों पर कार्रवाई करे. कश्मीर में हालात सामान्य हो रहे है, पाबंदी धीरे-धीरे हटेगी.”

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!