Saturday , September 19 2020 11:45
Breaking News

भारत और चीन के बीच बिगड़े हालात , जल्द हो सकती है ये घोषणा…

सेना ने कहा है कि हम शांति कायम रखना चाहते हैं, लेकिन देश की संप्रभुता और सरहदों की रक्षा किसी भी कीमत पर करेंगे. सेना के मुताबिक, चीन के वेस्टर्न थियेटर कमांड ने झूठे बयान के जरिए अपने देश और बाकी दुनिया के लोगों को गुमराह करने की कोशिश की है.

भारतीय सेना ने मंगलवार को आधिकारिक बयान देते हुए चीन की पोल खोल दी. सेना ने कहा, ‘हमारी ओर से लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर स्थिति सामान्य करने की कोशिश जारी है, जबकि चीन उकसाने वाली हरकतें कर रहा है.

हमने एलएसी पार नहीं की और न ही फायरिंग या कोई ऐसी अग्रेसिव हरकत नहीं की है. चीन बेपरवाह होकर दोनों देशों के बीच हुए समझौते का उल्लंघन करता जा रहा है.’ सेना ने कहा कि एक ओर वो हमारे साथ मिलिट्री, डिप्लोमैटिक और राजनीतिक स्तर पर बातचीत कर रहे हैं और दूसरी ओर ऐसी हरकतें.

हम मीडिया से ऐसी रिपोर्टिंग से परहेज करने का आग्रह करते हैं.’  चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के मुताबिक, भारतीय सैनिकों ने 7 सितंबर को पैंगॉन्ग सो के दक्षिणी किनारे पर एलएसी पार कर घुसपैठ की कोशिश की.

भारतीय सेना ने एलएसी पार करने के बाद हवाई फायर भी किए. उसका आरोप है कि भारतीय सेना ने शेनपाओ इलाके में एलएसी पार की और जब चीनी की पेट्रोलिंग पार्टी भारतीय जवानों से बातचीत करने के लिए आगे बढ़ी तो उन्होंने जवाब में वॉर्निंग शॉट किए यानी हवा में गोली चलाई.

लद्दाख (Ladakh Border) में चीन के साथ सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है. चीन ने सोमवार देर रात वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) पर पेट्रोलिंग के दौरान की ओर से फायरिंग का आरोप लगाया है.

जिसे भारत सरकार ने साफ तौर पर खारिज कर दिया है. भारतीय सेना के बाद अब विदेश मंत्रालय (MEA) ने भी चीन के LAC पर फायरिंग के आरोपों को खारिज किया है.

विदेश मंत्रालय ने कहा- ‘हमने ग्लोबल टाइम्स के साथ ही चीनी मीडिया में चल रहे रिपोर्ट्स देखें. इसमें (Ajit Doval) को लेकर भी कुछ कमेंट्स किए गए हैं. ये रिपोर्ट पूरी तरह से फर्जी और झूठे हैं. इनका कोई आधार नहीं है.

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!