Breaking News

कूड़ा उठाने वाली स्त्रियों के हाथ से बनी यह चीज़ बाटेंगे आयुष्‍मान

Loading...

आयुष्‍मान खुराना लगातार व्यस्त चलरहे हैं. इसके बावजूद वे इस दीवाली पर अपनों के लिए वक्‍त निकाल रहे हैं. इस बार वे फैमिली के साथरोशनी का त्यौहार मनाने चंडीगढ़ जाएंगे. साथ ही इस बार वह दीपावली के तोहफोंके जरिए सामाजिक सरोकार से जुड़े एक खास कॉज का समर्थन करेंगे.

Image result for आयुष्‍मान दीपावली

सोशल कॉज से करेंगे सपोर्ट : आयुष्मान व ताहिरा सभी को ऐसे तोहफेभेजेंगे, जिन्हें कूड़ा उठाने वाली स्त्रियों ने अपने हाथों से बनाया है. आयुष्‍मान व ताहिरा दोनों मिलकर हैंडमेड दीये, कैंडल्‍स व बाकी प्रोडक्‍ट बांटेंगे. उन कूड़ा उठाने वाली औरतों को एक एनजीओ ने आर्टिजन बनने की ट्रेनिंग दी है. ये महिलाएं रैगपिकर्स के रूप में जैसे-तैसे अपनी जिंदगी गुजारती हैं व अपनी आंखों, लंग्स (फेफड़े) व पूरी स्वास्थ्य एवं तंदुरुस्ती को खतरे में डालते हुए बड़े डंप-यार्ड से कूड़ा बीनती हैं. यह एनजीओ इन रैगपिकर स्त्रियों को ट्रेनिंग देने में माहिर है, जो ड्राई फ्लावर्स से आर्टिस्टिक दीये, कैंडल्स, पेंटिंग्स तथा इसी तरह के कई अन्य प्रोडक्ट्स बनाती हैं.

Loading...

दिवाली मतलब है खुशी : अपनी गिफ्टिंग आइडिया के बारे में आयुष्मान कहते हैं-“दीवाली का मतलब दूसरों के ज़िंदगी में ख़ुशी लाना भी है. हम यह त्यौहार अपने-अपने परिवारों के साथ मनाते हैं, लेकिन हमें इस बात को भी ध्यान में रखना चाहिए कि, कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें हम सहारा दे सकते हैं व उनके चेहरे पर मुस्कान ला सकते हैं. इन प्रोडक्ट्स को तोहफेके रूप में देकर, हम इस ऑर्गेनाइजेशन द्वारा इन स्त्रियों की जिंदगी में परिवर्तन लाने के लिए किए जा रहे प्रयासों को लोगों के सामने लाना चाहते हैं, जो यह संगठन इन स्त्रियों के साथ कर रहा है, जिन्हें हम सभी के समर्थन की बेहद आवश्यकता है. हमें उम्मीद है कि हम सामाजिक सरोकार से जुड़े इस मामले के समर्थन के लिए ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को जागरूक बना पाएंगे.”

ताहिरा ने कहा- “हमने इन स्त्रियों के द्वारा तैयार किए गए प्रोडक्ट्स को तोहफेके रूप में देने का निर्णय लिया, ताकि हम उनके शानदार कार्य को संसार के सामने ला सकें व लोगों को उनके द्वारा हासिल सकारात्मक नतीजों के बारे में बता सकें. हम उनकी मेहनत को सबके सामने लाना चाहते हैं, साथ ही हम सभी को यह बताना चाहते हैं जिंदगी बेहद कीमती है व इसे केवल पेट पालने के लिए खतरनाक कार्य करके बर्बाद नहीं करना चाहिए. हम सभी को ऐसी अनगिनत स्त्रियों के भविष्य को सुरक्षित बनाना होगा, व इसलिए हम चाहते हैं कि ज्यादा-से-ज्यादा लोग उनके कार्य के बारे में जानें व उन्हें सहारा दें.”

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!