Breaking News

असम के इस थाने में तीन बहनों के उतरवाए गये सारे कपड़े और पुलिसवाले उनके प्राइवेट पार्ट में…

Loading...

असम में हाल ही में पुलिस ने तीन बहनो के साथ अपराध करने का मामला सामने आया है। जहॉं तीन बहनों के साथ पुलिस हिरासत में मारपीट करने और उनके साथ यौन शोषण किया गया है। इस मामले में मिली जानकारी के मुताबिक इन बहनों के कपड़े पुलिस कस्टडी में उतरवाए गए और उन्हें लाठी से पीटा गया।

जी दरअसल यह मामला असम के दारंग जिले का है जहॉ इन महिलाओं के मुस्लिम भाई के खिलाफ हिंदू महिला को जबरन अपने पास बंधक बनाने का मामला दर्ज किया गया हैं। जिसके बाद पुलिस ने इन तीनों बहनो को अरेस्ट किया है। वहीं इस मामले में बात करते हुए असम के डीजीपी कुलधर सैकिया ने बताया कि थाने पर तैनात सब इंस्पेक्टर महेंद्र शर्मा और महिला कॉस्टेबल बिनीता बोरो को सस्पेंड कर दिया गया हैै। उनके खिलाफ मंगलवार को आपराधिक मामला दायर किया गया और इसी के साथ ही इस पूरे मामले की एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया गया हैं।

Loading...

आगे उन्होंने कहा है कि 10 सितंबर को तीनों में से एक बहन ने अपनी लिखित शिकायत में कहा है कि पुलिस ने हमे नंगा किया है हमारे साथ यौन शोषण किया है हमारे निजी अंगो को छुआ है तीनों बहनों की उम्र 28, 30, 18 वर्ष है। जिन्हें 9 सितंबर को रात 1.30 बजे उनके घर से पुलिस ने कस्टडी में लिया है।

इस मामले में पुलिस का दावा है कि महिला से पूछताछ के लिए उन्हें हिरासत में लिया गया है क्योंकि यह केस उनके भाई के खिलाफ हिंदू महिला को बंधक बनाने का है। जिस महिला ने शिकायत दर्ज कराई उसने बताया कि हम अपने भाई से संपर्क नहीं कर सके हैं। इसके बाद उनका भाई पुलिस स्टेशन पहुंचा और उसने पूछा कि मेरी वजह से मेरी बहनों के साथ क्यों मारपीट की गई। इस पर पुलिस ने उसे भी पीटा है।

इसी के साथ महिला ने बताया है कि उनका भाई और महिला दोनों का अफेयर है दरांग के एसपी अमृत भूयान ने बताया कि अपहरण का मामला महिला के परिवार के खिलाफ 6 सितंबर को दर्ज कराया गया है। लेकिन अब आरोपी भाई को हिरासत में ले लिया गया है। पीड़िता ने बताया है कि उसके भाई का महिला के साथ दो वर्ष से अफेयर है। दूसरी बहन ने बताया है कि हमारे पास अफेयर के सबूत हैं। उसे किडनैप नहीं किया गया है।

वहीं जब हिंदू महिला वापस आई तो उसने पुलिस को बताया है कि उसे जबरन ले जाया गया है। पीड़िता ने अपने शरीर के घाव की तस्वीरों को दिखाया है उसने बताया कि जब हमने शर्मा से पूछा कि आप हमें क्यों ले जा रहे हैं तो उसने हम पर पिस्तौल तान दी और कहा कि ज्यादा सवाल मत पूछो। मेरे पति को पुलिस ने जेल में बंद कर दिया और मेरे सामने मेरी बहन को नंगा किया गया है। मेरी बहन के बाएं पैर में कुछ दिक्कत है। लेकिन उसके इसी पैर पर पुलिस ने मारा है। हमने पुलिस को बताया कि मेरी बहन गर्भवती है। लेकिन शर्मा ने कहा कि ज्यादा नाटक मत करो। पीड़िता का कहना है कि हमे न्याय चाहिए।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!