Breaking News

शेल्टर होम में घुसने का किया प्रयास तो विरोध करने पर आरोपियों ने चाकू से गोदा

Loading...

देश की राजधानी दिल्ली में बेघरों के लिए शेल्टर होम की व्यवस्था दिल्ली सरकार की तरफ से की गई है, लेकिन इन शेल्टर होम्स में सीधे-साधे लोगों के साथ हत्यारों को भी रखा जा रहा है. दरअसल, बीते शनिवार को दिल्ली के दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस इलाके में शेल्टर होम में रहने वाले दो लड़कों ने वहां कार्य करने वाले एक शख्स की मर्डर कर दी. इस घटना को अंजाम बंगला साहिब गुरद्वारे के पास एक एनडीएमसी पार्क में स्थित नाइट शेल्टर होम में दिया गया. आरोपियों ने 26 वर्ष के प्रवीण को मृत्यु के घाट उतार दिया. पुलिस ने आरोपियों को अरैस्ट कर लिया है  फिलाहल दोनों कारागार में बंद हैं.

शेल्टर होम के सफाई कर्मचारी को चाकूओं से गोदा

Loading...

जानकारी के मुताबिक, दोनों आरोपी मंडावली इलाके के रहने वाले हैं  घटना वाले दिन दोनों जबरदस्ती शेल्टर होम में घुसने की प्रयास कर रहे थे. जब प्रवीण ने इसका विरोध किया तो दोनों ने लड़कों ने चाकूओं से गोदकर उसकी मर्डर कर दी. जानकारी के मुताबिक, घटना के समय प्रवीण साफ-सफाई के लिए शेल्टर होम में जा रहा था. प्रवीण रात में नजदीकी अस्पताल में  दिन में शेल्टर होम में साफ-सफाई का कार्य करता था. घटना से पहले वो सफाई करने शेल्टर होम में जा रहा था. तभी आशिष  मैगी नाम के दो लड़कों ने उसे रोक लिया. ये दोनों लड़के प्रवीण को शेल्टर होम से थोड़ा सा दूर ले गए, जहां दोनों ने प्रवीण की मर्डर कर दी.

प्रवीण ने उपचार के दौरान अस्पताल में तोड़ा दम

घायलवस्था में प्रवीण ने भागने की प्रयास की तो दोनों ने पीछे से प्रवीण के सिर पर ईंट फेंककर मार दी, जिससे प्रवीण वहीं गिर गया. जानकारी के मुताबिक, इन हत्यारों ने ही प्रवीण के घायल होने की जानकारी शेल्टर होम के सुपरवाईजर मंजीत को फोन कर दी. मंजीत ने तुरंत एंबुलेंस को फोन कर बुलाया  प्रवीण को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मृत्यु हो गई. पुलिस ने दोनों आरोपियों को अरैस्ट कर लिया है. हालांकि बताया ये भी जा रहा है कि इन दोनों लड़कों का साथ देने वाले कुछ लोग अभी फरार हैं. पुलिस ने इन लड़कों के पास से 14 मोबाइल  लैपटॉप बरामद किए हैं.

8-10 लोगों की गैंग इलाके में करती है गैर-कानूनी काम

– इस घटना को अपनी आंखों से देखने वाले एक शख्स का बोलना है कि हत्यारों ने उसे भी धमकी दी है कि अगर उसने किसी को इस बारे में बताया तो वो उसके साथ भी यही हाल करेंगे. शेल्टर होम में रहने वाले लोगों का भी यही बोलना है कि यहां पर 8-10 लोगों की एक गैंग है जो आपराधिक वारदातों को अंजाम देती है. ये लोग शेल्टर होम में रहने वाले  लोगों को भी तंग करते हैं. इसके अतिरिक्त चोरी-चकारी, नशा  लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की वारदातों को अंजाम देते हैं.

– लोगों का बोलना है कि ये लोग आसपास के इलाके में भी गैर-कानूनी कामों को अंजाम देते हैं. इस सबके बारे में पुलिस को कई बार अवगत कराया जा चुका है, लेकिन पुलिस है कि कोई ठोस कदम नहीं उठा सकी है  अब जब किसी बेकसूर की मर्डर हो गई है, तब पुलिस की नींद टूटी है.

कुछ लोगों का ये भी बोलना है कि यहां स्थित 6 शेल्टर होम्स में लोगों को बिना किसी जांच-पड़ताल के लाकर रखा जाता है, फिर ऐसे में किसी शख्स के क्रिमिनिल बैकग्राउंड का पता नहीं चलता. यहां के शेल्टर होम में करीब 300 लोग रहते हैं, जो सभी इस गैंग से परेशान हैं.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!