उत्तराखंड में तबाही लेकर आई भारी बारिश, मकान ढहने से मलबे में जिंदा दफन हुई महिला

Share & Get Rs.

त्तराखंड में लगातार हो रह बारिश मुसीबत बनती जा रही है। भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे सहित प्रदेश के कई जिलों में सड़कें बंद हो गईं हैं।  उत्तरकाशी चिन्यालीसौड में ग्राम कुमराडा के मुंडरा थोला तोक में एक आवासीय भवन क्षतिग्रस्त होने से भडडू देवी पत्नी जुरूलाल उम्र 75 की मलबे में दबने से मौत हो गई।

रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग फाटा के समीप तरसाली में भारी मलबा आने से बाधित हो गया है, जिस कारण वाहनों की दो तरफा लंबी कतार लग गई है। प्रशासन और पुलिस द्वारा केदारनाथ यात्रा के यात्रियों को नजदीकी स्थानों पर रूकने के लिए कहा जा रहा है।उत्तराखंड में बारिश के बाद भूस्खलन से गई सड़कें बंद हो गईं हैं।

गंगोत्री हाईवे पर भटवाड़ी से आगे हेलगूगाड़ के पास बुधवार शाम से भूस्खलन होने के कारण गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित है। जिससे गंगोत्री धाम की यात्रा बाधित हो गई है।लगातार हो रही बारिश और पहाड़ी से गिर रहे टनों मलबा के बीच अंधेरा होने से हाईवे खोलना अभी संभव नहीं है।

जिला प्रशासन की ओर से गंगोत्री जाने वाले तीर्थ यात्रियों को जिला मुख्यालय, हीना व भटवाड़ी में ही रोका गया है।शाम को हुई तेज बारिश से लगभग छह बजे हाईवे तरसाली के समीप पहाड़ी से भारी मात्रा में मलबा, बोल्डर और पेड़ों के गिरने से बंद हो गया।

Share & Get Rs.