गैस को मिटाने में बेहद कारगर हैं अजवाइन

Share & Get Rs.

अजवाइन  के विशेष गुणों के कारण इसका उपयोग लगभग हर घर में किया जाता है। पेट में गैस को मिटाने का इसके विशेष गुण के कारण मैदा से बनने वाली चीजों में इसे जरूर डाला जाता है।

 

अजवाइन को पराठा , अचार , कढ़ी ,चावल , बिस्किट , कुकीज़ आदि में उपयोग किया जाता है। प्रसूता यानि नवजात शिशु की माता को अजवाइन और गुड़ खिलाये जाते है जो प्रसूता के लिए कई प्रकार से लाभदायक होता है। इसके पत्ते भी उपयोग में लाये जाते है।

सर्दी-जुकाम से होने वाले बुखार में 5 ग्राम अजवायन और 1 ग्राम गिलोय का रस 100 मिली लीटर पानी में रात को भिगोकर रखें। सुबह पानी छानकर इसमें थोड़ा सा नमक मिलाकर पीने से आराम मिलेगा। बुखार में होने वाली घबराहट में 5 ग्राम अजवायन 50 मिली लीटर पानी में उबाल कर छान लें। आधा-आधा पानी 2 घंटे के अंतराल में पी लें, लाभ होगा।

ठंडा होने पर इस तेल से मालिश करें। 20-20 ग्राम अजवायन और मेथी के दाने पीस कर एक पतले कपड़े में बांध कर एक पोटली बना लें। इस पोटली को तवे पर गर्म करके प्रभावित जगह पर सावधानी के साथ लगाएं। एक बर्तन में अजवाइन के कुछ बीज पानी में उबालें। उस पानी में एक कपड़े को गीला कर दर्द वाली जगह की सिकाई करें। अजवायन के बीज थोड़े से पानी में पीस कर बनी पेस्ट प्रभावित जगह पर लगाने से भी राहत मिलती है।

Share & Get Rs.