Breaking News

फाइबर से भरपूर है मल्टी ग्रेन मसाला रोटी

इसमें गेहूं के अलावा चना , चावल , ज्वार , बाजरा , मक्का , जौ , सोयाबीन , ति‍ल्ली आदि को एक साथ पीसकर आटा तैयार किया जाता है। मल्टीग्रेन आटा या उससे बने व्यंजन आपके शरीर में एक कई तरह के पोषक तत्वों की एक साथ पूर्ति करते हैं , जबकि सामान्य आटे में आपको सीमित पोषण ही मिल पाता है।

Image result for मल्टी ग्रेन मसाला रोटी

इसका प्रयोग करने से शरीर को भरपूर मात्रा में फाइबर मिलता है जो आपके पाचन तंत्र को बेहतर कार्य करने में मदद करता है और कब्ज की समस्या नहीं होती। शरीर को फाइबर अधिक मिलने पर यह वजन कम करने और मोटापा घटाने में भी बेहद सहायक होता है और जिससे आप जल्दी दुबले हो सकते हैं। मल्टीग्रेन कई पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है जिससे आपकी प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है और बीमारियां आपसे दूरी बनाए रखती हैं। इसका एक खास फायदा यह भी है कि यह डायबिटीज के मरीजों और रक्तचाप रोगियों के लिए फायदेमंद होता है और शरीर में वसा का जमाव नहीं होने देता।

loading...

इसलिए अगर आप अपने नाश्ते मे गेंहू के आटे से बनी रोटी के बजाए मल्टी ग्रेन आटा की बनी रोटी खाएंगे तो आपका ब्रेक-फास्ट ज्यादा पौष्टिक हो जाएगा। तो यहां हम बता रहे है सेहत से भरी मल्टी ग्रेन मसाला रोटी के बारे में जो खाने में भी उतनी ही स्वादिष्ट है।

सामाग्री – एक कप गेहूं का आटा, आधा कप ज्वार का आटा, आधा कप बाजरे का आटा, आधा कप बेसन, आधा कप मक्का का आटा, एक टमाटर (बारीक कटा हुआ हुआ), एक प्याज (बारीक कटी हुई), एक हरी मिर्च (बारीक कटी हुई), एक बड़ा चम्मच बारीक कटा हरा धनिया, एक चौथाई छोटा चम्मच अजवाइन, नमक स्वादानुसार, तीन बड़ा चम्मच देसी घी, पानी जरूरत के अनुसार।

विधि – सबसे पहले एक बाउल आटा, प्याज , टमाटर, हरी मिर्च, धनिया पत्ती, नमक और अजवाइन डालकर मुलायम गूंद लें। गूंदे हुए आटे को 20 मिनट के लिए रख दें। तय समय के बाद आटे की लोइयां तोड़कर इनकी रोटियां बेल लें। अब मीडियम आंच में एक तवा गरम करने के लिए रखें। तवे के गरम होते ही एक-एक कर सारी रोटियां सेंक लें। तैयार है मल्टी ग्रेन मसाला रोटी। रोटियों पर घी लगाकर दही के साथ सर्व करें।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!