Tuesday , December 10 2019 2:07
Breaking News

टिकट वितरण में सिंधिया के करीबियों को वरियता से कमलनाथ हुए नाराज

कांग्रेस के लिए हाल के दिनों में कुछ भी ठीक नहीं चल रही है। राजस्थान में पार्टी के दिग्गज नेताओं के बीच जारी गतिरोध पर पिछले दिनों पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अब सब ठीक है। लेकिन अब कांग्रेस के लिए नई परेशानी मध्य प्रदेश में खड़ी हो गई है। खबर है कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस ने बुधवार को जिन 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित करने का ऐलान किया था उससे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ नाराज हो गए हैं। उन्होंने पार्टी लाइन से इतर बयान देते हुए कहा कि अभी इन नामों पर सिर्फ चर्चा हुई है, जबकि पार्टी ऐलान करने जा रही है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, तय किए गए 80 नामों की लिस्ट में कांग्रेस सांसद और मध्य प्रदेश कांग्रेस चुनाव समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया के नजदीकियों को वरीयता दी गई है

Image result for टिकट वितरण में सिंधिया के करीबियों को वरियता से कमलनाथ हुए नाराज

टिकट बंटवारे में सिंधिया की चली

पार्टी सूत्रों के अनुसार, जिन 80 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम फाइनल होने की बात कही जा रही है, उसमें केंद्रीय नेतृत्व के साथ कांग्रेस सांसद और मध्य प्रदेश कांग्रेस चुनाव समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया के नजदीकियों को वरीयता दी गई है। इस बात से प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ खासे नाराज हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो, कमलनाथ नहीं चाहते कि प्रदेश में ऐसे लोगों को आगे किया जाए जिनकी वजह से कांग्रेस की जीत में जरा भी संदेह हो सकता है।

अंदरूनी रार आई सामने

बता दें कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में व्याप्त अंदरूनी रार सामने आने लगी है। बुधवार को कांग्रेस ने प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से 80 सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम तय करने की घोषणा की थी। अगले सप्ताह तक पार्टी सभी सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर देगी। लेकिन इस सब के बीच पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का पार्टी लाइन से अलग बयान आया है, जो पार्टी के भीतर जारी गतिरोध को सामने ला रहा है।

किसी का नाम तय नहीं – कमलनाथ

कमलनाथ ने पार्टी लाइन से इतर बयान देते हुए कहा कि अभी 80 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम पर सिर्फ चर्चा हुई है, अभी किसी का नाम तय नहीं हुआ है। उन्होंने मीडिया से कहा कि अभी जो नाम सामने आ रहे हैं उन्हें तय न माना जाए। नाम तय करने के लिए अभी कुछ दौर की बैठकें और होंगी। उन्होंने प्रत्याशियों की लिस्ट के बारे में पूछे जाने पर कहा कि कांग्रेस प्रत्याशियों की लिस्ट 28-29 अक्टूबर तक आ जाएगी

जिताऊ है तो भाजपा से आए को भी दें टिकट

हाल में कमलनाथ ने साफ तौर पर कहा था कि जो व्यक्ति चुनाव जीतने मे सक्षम होगा, उसे पार्टी अपना उम्मीदवार बनाएगी, चाहे वह भारतीय जनता पार्टी से ही क्यों न आया हो। हालांकि पार्टी के कई नेता उनकी इस बात से सहमत नहीं है और वह बाहरी लोगों को टिकट देने के पक्ष में नहीं है। उनका कहना है कि इससे पार्टी के कार्यकर्ताओँ पर बुरा असर पड़ेगा।

बाहरियों को महत्व नहीं – प्रदेश कांग्रेस प्रभारी

जहां प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का बाहरी नेताओं को लेकर ऐसा रुख है वहीं मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बावरिया का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि पैराशूट प्रत्याशियों को टिकट वितरण में महत्व नहीं दिया जाएगा। जिन 80 नामों को लेकर चर्चाएं चल रही हैं, वे सभी नाम केंद्रीय नेतृत्व और अन्य वरिष्ठों की सहमति से फाइनल कर लिए गए हैं। बाकी बची सीटों पर भी आगामी एक सप्ताह में नाम तय कर लिए जाएंगे।

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!