Thursday , December 12 2019 17:42
Breaking News

ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करवाने पर आपको मिलेगा यह फायदा

ट्रैफिक नियमों को और बेहतर बनाने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है. इसीलिए न सिर्फ ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर भारी जुर्माना वसूला जा रहा है बल्कि केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पटना में ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करने की बात भी कह दी. उन्होंने कहा कि अगर ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक कर दिया जाएगा तो इससे कई तरह के फायदे होंगे. तो, डीएल को आधार से लिंक करने के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं हम आपको बताते हैं-

नहीं हो पाएगी डुप्लीकेसी-
आधार को डीएल से लिंक करने का सबसे बड़ा फायदा तो ये होगा कि ड्राइविंग लाइसेंस की डुप्लीकेसी नहीं पाएगी जिससे किसी भी इमरजेंसी या दुर्घटना की स्थिति में आरोपी की पहचान करना आसान होगा. अभी तक लोग अलग किसी दूसरे आरटीओ ऑफिस जाकर दूसरा डीएल बनवा लेते हैं.

दरअसल आधार से डीएल को लिंक कर देने से नकली डीएल बनवाना आसान नहीं होगा. अभी तक नकली डीएल की वजह से कई बार दुर्घटना करने के बाद कुछ आरोपी फरार हो जाते हैं और दूसरा नकली लाइसेंस बनवा लेते हैं जिससे उनका पता लगाना मुश्किल हो जाता है.

डीएल से आधार को लिंक करने से लोग फाइन देने से नहीं बच पाएंगे. अभी तक लोग उनके नाम में किए गए फाइन को या तो बहुत देर में जमा करते हैं या तो कई बार दूसरा लाइसेंस बनवा लेते हैं. आधार लिंक होने से इससे बचा जा सकेगा. खुद ही कर सकते हैं लिंक-
राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के सड़क परिवहन विभाग के ऑफीशियल वेबसाइट पर जाएं. वहां लिंक आधार के विकल्प को चुनें. इसके बाद ड्राइविंग लाइसेंस के विकल्प को सेलेक्ट करके अपना ड्राइविंग लाइसेंस नंबर डाल दें. फिर आपके ड्राइविंग लाइसेंस की सारी डिटेल दिखेगी. अब अपना 12 डिजिट का आधार नंबर और कॉन्टैक्ट नंबर डाल दीजिए. फोन नंबर वही होना चाहिए जो कि आपके आधार कार्ड से लिंक है. अगर आप ऑनलाइन नहीं करना चाहते हैं तो आरटीओ ऑफिस जाकर भी आप ऐसा कर सकते हैं.

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!