योगी सरकार ने लिया ये बड़ा एक्‍शन , खौफ में अतीक अहमद

Share & Get Rs.

इन दिनों पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद हैं। अतीक अहमद को डर है कि कहीं रास्ते में उसकी हत्या न हो जाए। यही कारण है कि उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मामले को सुनने के लिए एक आवेदन दायर किया है। अतीक अहमद ने अपने राजनीतिक विरोधियों और पुलिस के शीर्ष अधिकारियों पर उनकी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है।

 

अतीक अहमद के वकील ने एमपी-एमएलए कोर्ट में एक अर्जी दाखिल की है। इस एप्लिकेशन में मुन्ना बजरंगी की तरह हत्या की संभावना है। जेल से अपना बयान लेने के लिए प्रयागराज गए एक पुलिसकर्मी ने उन्हें ऐसी जानकारी दी कि उन्हें रास्ते में मारने की साजिश रची गई है। बाहुबली ने अपनी याचिका में कहा है कि इससे पहले भी कई बंदियों की न्यायिक हिरासत में हत्या हो चुकी है। 2019 में मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में प्रदर्शनकारियों की हत्या कर दी गई।]

अतीक अहमद ने अपने वकीलों के जरिए वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से मुकदमे की सुनवाई की अर्जी दाखिल की थी, जिसे स्पेशल एमपी एमएलए कोर्ट ने मंजूर कर लिया है। अतीक अहमद मामले की सुनवाई 4 नवंबर को होनी है। कोर्ट ने सुनवाई के लिए पूरे इंतजाम के आदेश दे दिये हैं।

आपराधिक मामले से जुड़े एक केस में अतीक अहमद की प्रयागराज कोर्ट में पेशी थी, जिसके लिए उसे गुजरात से प्रयागराज लाया जाना था। लेकिन उसने आशंक जताई है कि रास्ते में उसकी हत्या की जा सकती है, इसलिए उसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई में शामिल होने की इजाजत मिले।

योगी सरकार के एक्‍शन से यूपी में अपराधी खौफ में हैं। बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद को अब उत्तर प्रदेश में अपनी हत्या का डर सताने लगा है। पहले मुख्तार अंसारी और अब बाहुबली अतीक अहमद ने यूपी में सुनवाई के लिए आने से इनकार कर कर दिया है।

 

 

Share & Get Rs.
error: Vision 4 News content is protected !!