Wednesday , February 19 2020 2:54
Breaking News

सीएम योगी के इस कड़े कदम से उडी मौलाना की नीद, कहा इस बार माफ़ कर दो भविष्य में नहीं होगी ऐसी…

इन्होंने 19 मार्च 2017 को प्रदेश के विधान सभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की बड़ी जीत के बाद यहाँ के 21वें मुख्यमन्त्री पद की शपथ ली।

वे 1998 से 2017 तक भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया और 2014 लोकसभा चुनाव में भी यहीं से सांसद चुने गए थे।

मुजफ्फरनगर, 26 दिसंबर: उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) 2019 के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए. प्रदर्शनकारियों ने उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर हिंसा को अंजाम दिया, हिंसा के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दंगाइयों के खिलाफ कड़ा एक्शन लेने का सख्त आदेश दिया.

सीएम योगी के आदेश के बाद यूपी पुलिस दंगाई प्रदर्शनकारियों की धड़ पकड़ में जुट गई है, हिंसा में शामिल जिस भी दंगाई की पहचान हो रही पुलिस तुरंत उसके घर कुर्की का समन भेज रही है.

योगी सरकार के इस कड़े एक्शन से मुजफ्फरनगर के मौलानाओं में दहशत फ़ैल गयी है। मुस्लिमों की एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुजफ्फरनगर के एक मौलाना ने कहा की, हम कश्तूरवार हैं, लेकिन हम कहना चाहते हैं अगर जिंदगी रही तो इंशाअल्लाह आइंदा ऐसी गलती कभी नहीं होगी.

कृपया हमें माफ़ कर दिया जाय? मौलाना ने कहा, मैं अपने कलेक्टर साहब से कहना चाहता हूँ? भाई गलती हो गयी माफ़ कर दीजिये, रात में लोग डर रहे हैं सोते नहीं है.

अब आप कह दीजिये की इत्मीनान से सोएं।उल्लेखनीय है की नागरिकता संसोधन कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था था की दंगाइयों को पकड़ेंगे और उनकी सम्पत्ति जब्त करके नुकसान की भरपाई करेंगें।

योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मन्दिर के महन्त तथा राजनेता हैं एवं वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री हैं।

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!