क्या बसों-टैक्सियों का सफर होगा महंगा या फिर मिलेगी रियायत… ?

Share & Get Rs.

देहरादून। प्रदेश सरकार की हरी झंडी के बाद परिवहन विभाग ने राज्य परिवहन प्राधिकरण (एसटीए) बैठक की तारीख तय कर दी। अब इस बैठक में किराया निर्धारण को लेकर फैसला लिया जाएगा।

13 जुलाई को परिवहन आयुक्त मुख्यालय में एसटीए की बैठक होगी। एसटीएस सचिव सनत कुमार सिंह ने सभी सदस्यों को बैठक की सूचना जारी कर दी। सूत्रों के अनुसार बस, टैक्सी, ऑटो आदि यात्री वाहन और ट्रक, टेंपो, लोडर आदि माल भाड़ा वाहनों के किराए में विभिन्न श्रेणियों में 15 से 35 फीसदी तक किराया बढ़ सकता है।

किराया संशोधन कमेटी ने पेट्रोल-डीजल के मूल्य में दो साल में हुए इजाफे और ट्रांसपोर्टर के सुझावों के आधार पर मूल्य वृद्धि की इसी अनुपात में दरें प्रस्तावित की हैं। दरअसल, एसटीए ने पिछली बार किराया बढ़ोतरी वर्ष 2020 में की थी। तब डीजल की कीमत 55 रुपये के करीब थी।

जबकि इस वक्त डीजल का मूल्य 90 रुपये के करीब है। ई रिक्शा और एंबुलेंस का किराया भी इस बार तय किया जाएगा। लंबे समय से वाहन चालक किराया बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

Share & Get Rs.