Breaking News

कोरोना वायरस को लेकर WHO ने इस चौकाने वाले लक्षण का किया खुलासा, जानकर लोगो में डर का माहौल

WHO के अनुसार, अब तक कोरोना वायरस के कुल 12 लक्षण सामने आए हैं। इनमें सबसे गंभीर है बुखार। चाइना में हुए अध्ययन के अनुसार कोरोना के 87.9 प्रतिशत मरीजों में तेज बुखार का लक्षण पाया गया। इसके बाद दूसरे जगह पर सूखी खांसी है। 67.7 प्रतिशत मरीजों में यह लक्षण पाया गया है। WHO ने बोला कि यदि किसी को आकस्मित थकान महसूस होती है तो भी यह चिंता की बात है। चाइना में 38.1 फीसद मरीजों में कोरोना वायरस की आरंभ इसी लक्षण के चलते हुई थी।

Microscopic view of Coronavirus, a pathogen that attacks the respiratory tract. Analysis and test, experimentation. Sars. 3d render

WHO का बोलना है कि सीने में दर्द साफ़ तौर पर केवल कोरोना वायरस का लक्षण नहीं है, किन्तु यदि किसी को सीने में भारीपन महसूस हो रहा है या ऐसा महसूस हो कि गहरी सांस लेने में समस्या हो रही हो, तो यह कोरोना होने कि सम्भावना है। यह स्थिति बगैर किसी अन्य लक्षण के भी सामने आ सकती है।

कोरोना वायरस अब तक लाइलाज बीमारी बना हुआ है व केवल इसके लक्षणों का इलाज हो रहा है। AIIMS के डाक्टर अजय मोहन ने बोला है कि कोरोना वायरस से होने वाला संक्रमण एक प्रकार का वायरल इन्फेक्शन है, जो मुख्यरूप से श्वसन तंत्र, नाक व गले पर प्रभाव डालता है, यानी सर्दी, जुकाम, गला बेकार होना व बुखार इस बीमारी के आम लक्षण हैं।

उन्होंने बोला कि इन सामान्य लक्षणों के बीच कुछ अन्य लक्षण भी सामने आए हैं। दुनिया स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार अब तक विभिन्न प्रकार के 12 लक्षण सामने आ चुके हैं। एक सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या सीने में दर्द होना भी कोरोना वायरस का लक्षण है?

इस क्रम में बलगम चौथे जगह पर है। यही कारण है कि निर्बल लोगों के साथ ही बुजुर्गों के ऐसी चीजों से बचने के लिए बोला गया है कि जिनसे कफ बनता हो। इसके अतिरिक्त कुछ मरीजों में साँस फूलना, जोड़ों का दर्द, सिरदर्द आदि भी कोरोना के लक्षणों के रूप में देखे गए हैं।

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!