Breaking News

कौन सच्चा है कौन झूठा बृजेश कठेरिया की बहन की मृत्यु की गुत्थी गई उलझ

Loading...

किशनी विधायक बृजेश कठेरिया की बहन की मृत्यु का मुद्दा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से उलझ गया है. कौन सच्चा है कौन झूठा है इस बात का खुलासा जाँच के बाद ही होगा. गाजियाबाद के जिस अस्पताल में बहन को भर्ती कराया गया वह अस्पताल मृत्यु की तारीख 19 अगस्त को प्रातः काल 4.28 बजे बता रहा है. जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृत्यु 17 अगस्त की रात 12 बजे की जानकारी दर्ज की गई है. विधायक ने डीएम  एसएसपी गाजियाबाद को शिकायती लेटर देकर गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल  ससुरालीजनों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है.

किशनी विधायक ने डीएम  एसएसपी गाजियाबाद को शिकायती लेटर देकर जानकारी दी कि उनकी बहन सोनी की विवाह 22 नवंबर 2015 को अरुण वर्मा पुत्र आर्यन वर्मा निवासी जागृति बिहार, संजय नगर गाजियाबाद के साथ हुई थी. 19 अगस्त 2019 को ससुरालीजनों ने बहन की फांसी लगाकर मर्डर कर दी  मृत शरीर यशोदा हॉस्पिटल के मालिक डा दिनेश अरोरा से मिलीभगत कर अस्पताल में दाखिल करा दिया  फांसी लगाकर आत्महत्या की सूचना दे दी. घटना की रिपोर्ट गाजियाबाद में ही दर्ज कराई गई है. विधायक का बोलना है कि पुलिस ससुरालीजनों पर कार्रवाई नहीं कर रही.

Loading...

यशोदा हॉस्पिटल के डॉक्टरों पर मिलीभगत का आरोप : मैनपुरी. विधायक ने बोला कि यशोदा हॉस्पिटल के डा अरविंद डोगरा, डाक्टर अतुल गुप्ता, डा सूचि घई ने मिलकर डा दिनेश अरोरा के निर्देशन में 19 अगस्त 2019 को मृत्यु प्रातः काल 4.28 बजे दर्शाई जबकि यशोदा अस्पताल के द्वारा जो मौत प्रमाण-पत्र 17 सितंबर 2019 को जारी किया गया है उसमें पोस्टमार्टम का रेफरेंस दिखाया गया. जबकि पोस्टमार्टम होने के बाद पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सक पोस्टमार्टम रिपोर्ट को सीलबंद लिफाफे में विवेचक  थाना प्रभारी को भेजते हैं. फिर भी यशोदा हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम रिपोर्ट कैसे पहुंची.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!