बिजली संकट से जूझ रहे उत्तराखंड को मिली राहत , अगले एक साल तक…

Share & Get Rs.

उत्तराखंड में बिजली संकट और महंगी बिजली से जूझ रहे उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल) को कुछ राहत मिली है। यूपीसीएल को असम से छह रुपये प्रति यूनिट की दर से 36 मेगावाट बिजली अगले एक साल तक मिलती रहेगी। ये बिजली ऐसे समय मिल रही है, जब बाजार में बिजली के रेट 12 रुपये प्रति यूनिट तक पहुंचे हुए हैं।

यूपीसीएल मैनेजमेंट ने केंद्र सरकार पर रियायती दरों पर बिजली उपलब्ध कराने की मांग की थी। लगातार केद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह समेत केंद्रीय संयुक्त ऊर्जा सचिव से संपर्क किया जा रहा था। इस पर यूपीसीएल को असम के बोगोंई पॉवर प्लांट से 36 मेगावाट बिजली उपलब्ध कराने की मंजूरी दी गई। ये बिजली एक साल तक छह रुपये प्रति यूनिट की दर से उपलब्ध होगी।

यूपीसीएल ने 36 मेगावाट के स्थान पर 100 मेगावाट उपलब्ध कराने की मांग की है।  एमडी यूपीसीएल अनिल कुमार ने बताया कि 12 रुपये प्रति यूनिट के दौर में यदि बिजली छह रुपये प्रति यूनिट मिलनी शुरू हो जाए, तो ये एक बड़ी राहत है। इस बिजली के लिए तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश जैसे बड़े राज्य भी लगातार प्रयास कर रहे थे।

Share & Get Rs.