Breaking News

पति से बदला लेने के लिए इस बेरहम माँ ने अपने 3 साल के बेटे को तकिए से दबाकर मारा व फिर…

Loading...

जयपुर में इस मां की कहानी जिसने भी सुनी उसके रोंगटे खड़े हो गए. पुलिस ने नविता मीणा को गिरफ्तार किया है जिसने अपने पति से झगड़े की वजह से अपने 3 साल के सोते हुए बेटे को तकिए से दबाकर मार डाला. जब वे अपने बच्चे का अंतिम संस्कार कर रही थी, तब उसके पति को पता चल गया और उसने पुलिस को सूचना दे दी. वहां से पुलिस ने बच्चे की आधी जली लाश को लेकर मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू की तो नविता मीणा ने पूरी कहानी बताई .

पति से चल रहा था झगड़ा

Loading...

नविता ने पुलिस को बताया कि उसके पति से उसका झगड़ा चल रहा था. 23 जुलाई को नविता ने महिला थाना पश्चिम में अपने पति के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया था. शुक्रवार को फैमिली कोर्ट में आखिरी कोशिश की गई कि नविता और उसके पति राजेश के बीच सुलह हो जाए. नविता इस बात पर अड़ी रही कि उसका पति उससे माफी मांगे मगर जब पति राजेश ने उससे माफी नहीं मांगी तो उसने घर लौट कर पूरे परिवार के साथ आत्महत्या करने का फैसला किया.

पति को मैसेज- बहुत पछताओगे

इससे पहले उसने पति राजेश को व्हाट्सएप मैसेज भेजा कि अब तुम बहुत रोओगे और बहुत पछताओगे. इसके बाद नविता ने अपने 3 साल के बेटे दिव्यांश का सोते समय तकिए से दबाकर गला घोंट दिया. फिर बड़े बेटे 6 साल के नक्ष को लेकर बालकनी से कूदने के लिए गई. बालकनी की जाली उसने सुबह ही काट दी थी. नक्ष को बताया कि चंद्रयान-2 से एक बालक गिरने वाला है तुम्हें मैं रात को बालकनी से दिखाऊंगी.

बड़े बेटे के साथ मरने का इरादा बदला

मां के यह कहने के बाद बेटा मां के गले से लिपट गया और बोला कि मां तुम कितनी अच्छी हो. यह सुनने के बाद आत्महत्या करने जा रही नविता भावुक हो उठी और मरने का इरादा बदल दिया. मगर जब कमरे में आई तो यह देखकर डर से कांपने लगी कि दिव्यांश मर चुका था. फिर उसने अपने घर वालों को फोन कर बताया कि दिव्यांश बेहोश हो गया है. उसे अस्पताल लेकर जा रही हूं. अस्पताल जाने पर दिव्यांशु को मृत घोषित कर दिया गया.

नविता श्मशान पर जब दिव्यांशु को जला रही थी तब उसके पति राजेश को पता लग गया और उसने पुलिस को फोन कर दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो नविता टूट गई और उसने सारी कहानी बता दी.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!