Breaking News

नवरात्रि में उपवास के दौरान स्वास्थ्य का इस प्रकार रखे ध्यान

Loading...

शारदीय नवरात्रि प्रारम्भ होने में अब बस 2 दिन बाकी हैं 29 सितंबर यानी रविवार से नवरात्रि प्रारम्भ हैं नवरात्रि में देवी मां के नौ स्वरूपों की अराधना की जाती है मां को प्रसन्न करने के लिए कई तरह से उनकी पूजा-अर्चना की जाती है इस मौके पर कई लोग घर में कलश स्थापित करते हैं  व्रत रखते हैं नवरात्रि में अधिकतर लोग नौ दिन तक का उपवास रखकर मां दुर्गा की उपासना करते हैं हालांकि उपवास के दौरान आपको भोजन पर विशेष ध्यान रखना होता है कुछ चीजें ऐसी हैं जिसे व्रत के दौरान नहीं खाया जाता आइए जानते हैं व्रत के दौरान क्या खाएं  क्या न खाएं
व्रत में क्या खाएं-
नवरात्रि उपवास के दौरान केवल फलाहारी अन्न खाना चाहिए आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि कुट्टू, सिंघाड़े, सामग, राजगिरा, साबुदाना इत्यादि फलाहारी अन्न हैं आप कुट्टू, सिंघाड़े  राजगिरा को आटे के तौर पर प्रयोग कर सकते हैं सामग की खिचड़ी, खीर  ढोकला भी बनाया जा सकता है वहीं साबुदाना का पापड़, खीर, खिचड़ी  वडा भी बनाकर खाया जा सकता है

उपवास के दौरान खाने में मसाले के तौर पर जीरा  जीरे का पाउडर, काली मिर्च  उसका पाउडर, हरी इलायची, लौंग, दालचीनी, अजवायन, सूखे अनार के बीज, इमली  जायफल का प्रयोग किया जा सकता है

Loading...

नवरात्रि में लोग शाकाहारी डाइट अधिक लेते हैं इसमें आप शकरकंदी, आलू, अरबी, कचालू, पालक, तोरी, घिया, खीरा, गाजर की सब्जी खा सकते हैं

नवरात्रि में उपवास के दौरान अपना खाना देसी घी  बादाम के ऑयल में बनाकर ही खाएं आप ऑयल रहित खाने का भी खा सकते हैं

उपवास के दौरान फलों के सेवन से शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी पूरी होती है पपीता, सेब, नाशपाती  अनार जैसे फलों का सेवन जरूर करना चाहिए इन फलों के सेवन से शरीर को एनर्जी मिलती है

दूध  दूध से बने उत्पाद जैसे दही, लस्सी, बटरमिल्क, पनीर, चीज, व्हाइट बटर, घी, मलाई  खोए का भी सेवन किया जा सकता है

व्रत में क्या न खाएं-

नवरात्रि के वत्र में मांसाहारी खाने से बचें हो सके तो प्याज  लहसुन का इस्तेमाल भी न करें

नवरात्रि व्रत में हल्दी, हींग, सरसो का तेल, मेथी दाना, गर्म मसाला  धनिया पाउडर का प्रयोग नहीं किया जाता है नमक में केवल सेंधा नमक ही खाएं

व्रत के दौरान रिफाइंड ऑयल या सोयाबीन तेल में खाना न पकाएं

फली, दाल, चावल, आटा, कॉर्नफ्लोर, होल व्हीट, रवा  मैदे का प्रयोग करने से बचें

नवरात्रि के 9 दिनों में देवी मां के इन रूपों की करें पूजा-

शैलपुत्री- 29 सितंबर
ब्रह्मचारिणी- 30 सितंबर
चन्द्रघंटा- 1 अक्टूबर
कूष्माण्डा- 2 अक्टूबर
स्कंदमाता- 3 अक्टूबर
कात्यायनी- 4 अक्टूबर
कालरात्रि- 5 अक्टूबर
महागौरी- 6 अक्टूबर
सिद्धिदात्री- 7 अक्टूबर

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!