Thursday , October 22 2020 4:04
Breaking News

चीन के खिलाफ हुआ ये देश , चला सकता है मिसाइल

वहीं कनाडा में विपक्षी कंजर्वेटिव नेता इरिन ओ’टूले ने कहा कि चीनी राजदूत को माफी मांगनी चाहिए या फिर उन्हें कनाडा से बर्खास्त कर देना चाहिए. उन्होंने कहा कि चीनी राजदूत का बयान स्पष्ट रूप से हांगकांग में रह रहे 3,00,000 कनाडाई लोगों को धमकी की तरह है.

चीन के खिलाफ हुआ ये देश , चला सकता है मिसाइल

 

पिछले साल हांगकांग और चीन की सरकारों के खिलाफ शहर में प्रदर्शन तेज हो गये थे. सरकारों के खिलाफ लोगों की भावनाओं और गुस्से को दबाने के लिए चीन ने हांगकांग में एक नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू कर दिया जो 30 जून से प्रभावी है.

ट्रूडो ने कहा कि हम मानवाधिकारों के समर्थन में मजबूती से खड़े रहेंगे. चाहे वह उइगर समुदाय की परेशानियों के बारे में बात हो या फिर हांगकांग की चिंताजनक स्थिति के बारे में या फिर चीन की बलपूर्वक कूटनीति के बारे में बात करना हो.

ट्रूडो ने कहा कि कनाडा दुनिया भर में अपने उन सहयोगियों और अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, यूरोपीय देशों के साथ खड़ा है, जो मानवाधिकार उल्लंघनों के प्रति चिंतित हैं.

बृहस्पतिवार को कनाडा में चीन के राजदूत ने हांगकांग छोड़कर आ रहे लोगों को शरण नहीं देने के संबंध में ओटावा को चेतावनी दी थी. राजदूत कोंग पियू ने कहा था .

अगर कनाडा हांगकांग में रहने वाले 3,00,000 कनाडाई नागरिकों के बारे में और वहां कारोबार कर रहीं कंपनियों के बारे में सोचता है तो उसे चीन के हिंसा से लड़ने के प्रयासों में सहयोग करना होगा. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार चीन में मानवाधिकार उल्लंघनों के खिलाफ मजबूती से खड़ी रहेगी.

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!