Thursday , September 24 2020 9:49
Breaking News

रेहड़ी-पटरी वालों के लिए पीएम मोदी करने जा रहे ये बड़ा एलान, खाते में भेजे जाएंगे…

मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना से जुडने वाले रेहड़ी पटरी वालों का जीवन आसान बनाने के लिए उन्हें मूलभूत सुविधायें सुनिश्चित करेगी।

 

उन्होंने कहा कि रेहड़ी-पटरी या ठेला लगाने वाले के पास उज्जवला का गैस कनेक्शन है या नहीं, उनके घर बिजली कनेक्शन है या नहीं, वो आयुष्मान भारत योजना से जुड़े हैं या नहीं, उन्हें बीमा योजना का लाभ मिल रहा है या नहीं, उनके पास अपनी पक्की छत है या नहीं, ये सारी बातें देखी जाएंगी।

मोदी ने कहा कि रेहड़ी पटरी वाले डिजिटल दुकानदारी में पीछे न रहे, इसके लिए बैंकों और डिजिटल पेमेंट की सुविधा देने वालों के साथ मिलकर एक नई शुरुआत की गई है।

अब बैंको और संस्थाओं के प्रतिनिधि रेहड़ी, ठेले पर आएंगे और क्यूआर कोड देंगे। वह दुकानदारों को इसके इस्तेमाल करने का तरीका भी बताएंगे।

उन्होंने कहा कि जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आ जाती स्ट्रीट वेंडर्स को कुछ सावधानियां बरतनी होंगी। अपनी और अपने ग्राहकों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखना है। मास्क, साफ सफाई, दो गज की दूरी, इन सभी को अपनाना ही है।

प्रधानमंत्री ने पूर्व सरकारों पर गरीबी के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हमारे देश में गरीबों की बात बहुत हुई है लेकिन गरीबों के लिए जितना काम पिछले 6 साल में हुआ है, उतना पहले कभी नहीं हुआ।

उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बधाई देते हुए कहा कि सिर्फ 2 महीने में मध्य प्रदेश में 1 लाख से ज्यादा स्ट्रीट वेंडर्स- रेहड़ी-पटरी वालों को स्वनिधि योजना का लाभ सुनिश्चित हुआ है। इस योजना का उद्देश्य वेंडर्स को आर्थिक मदद देकर उन्हें नई शुरुआत करने के योग्य बनाना है।

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मध्‍यप्रदेश के रेहड़ी-पटरीवालों के साथ “स्‍वनिधि संवाद’ में उन्हें प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल नहीं करने की भी सलाह दी। कोरोना के मद्देनजर स्ट्रीट वेंडर्स से साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने का आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा करने से उनकी आय भी बढ़ेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को रेहड़ी-पटरी वालों से डिजिटल भुगतान को अपनाने की अपील करते हुए कहा कि यदि आप डिजिटल लेन-देन करेंगे तो आपके खाते में सरकार की ओर से इनाम के रूप में कुछ पैसे कैशबैक के रूप में भेजे जाएंगे।

 

 

 

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!