Wednesday , September 23 2020 2:18
Breaking News

चीन के ऊपर गिरा ये खतरनाक हथियार, खत्म हुआ आधा…, भागते नजर आए लोग

जब कोई सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा जाता है तो उसके रॉकेट को शक्ति देने वाले बूस्टर्स को लेकर खासी सावधानी बरती जाती है। ये बूस्टर्स रॉकेट को धरती के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर लेकर जाते हैं। जब इन रॉकेट्स का काम या इनका फ्यूल खत्म हो जाता है तो इन्हें रॉकेट से अलग कर दिया जाता है।

इस दौरान वैज्ञानिक इस बात का ध्यान रखते हैं कि रॉकेट से अलग होने के बाद धरती पर गिरते समय ये बूस्टर्स किसी रिहायशी इलाके में न गिरें। लेकिन, इस बार चीन के वैज्ञानिकों ने इसका ध्यान नहीं रखा।

पिछले सोमवार को अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट गॉफन 11 (Gaofen 11 Satellite) की लॉन्चिंग के दौरान चीनी वैज्ञानिकों की लापरवाही से एक बड़ी दुर्घटना होते-होते बची। लॉन्चिंग के दौरान ही रॉकेट लॉन्ग मार्च 4 बी का बूस्टर अचानक ही आसमान से एक स्कूल के पास आकर गिर गया।

गनीमत रही कि इस दौरान किसी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। ये बूस्टर्स अत्यंत ज्वलनशील जेट फ्यूल से भरे होते हैं, जो किसी घातक मिसाइल जितनी चोट पहुंचा सकते हैं।

चीन का रिमोट सेंसिंग उपग्रह जिलिन-एक गोफेन 02-सी (Jilin-1 Gaofen-02C Satellite) शनिवार को कक्षा में पहुंचने से चूक गया। आधिकारिक मीडिया ने यहां यह जानकारी दी।

उपग्रह को स्थानीय समयानुसार अपराह्न एक बजकर दो मिनट पर जिकुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से कुआझु-1ए राकेट पर छोड़ा गया था। सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के अनुसार प्रक्षेपण केंद्र ने कहा कि यान के असामान्य प्रदर्शन के चलते अभियान असफल रहा। केंद्र ने कहा कि विफलता के सटीक कारणों की जांच की जा रही है।

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!