Breaking News

सऊदी में बिना बुरका पहने सडको पर कुछ इस तरह नजर आ रही महिलाएं, देखकर रह जाएंगे दंग

Loading...

सऊदी अरब में कुछ महिलाएं अब अबाया (बुर्के) के बिना सड़कों पर नजर आ रही हैं. रियाद में एक महिला को मॉल के बाहर बिना अबाया के देखा गया. अबाया रूढ़िवादी इस्लामिक साम्राज्य में स्त्रियों की पारंपरिक परिधान है. इसे धर्म के प्रतीक के रूप में देखा जाता है.

पिछले वर्ष क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने टीवी चैनल को एक इंटरव्यू के दौरान बोला था कि ड्रेस कोड में छूट दी जी सकती है. यह पोशाक इस्लाम में जरूरी नहीं है. कोई औपचारिक नियम नहीं बनने के कारण यह चलन बरकरार है.

Loading...

कुछ स्त्रियों ने प्रतिबंध के बाद भी सोशल मीडिया पर यह तस्वीर डाली है. इसमें महिलाएं बिना बुर्के के नजर आ रही हैं. पहले भी कई बार इसके विरूद्ध स्त्रियों ने विरोध किया है. हालांकि, इस तरह का मुद्दा सऊदी अरब के लिए ‘दुर्लभ’ है.

जालुद ने बुर्का पहनना बंद किया

33 वर्ष की सऊदी महिला मशाल-अल-जालुद ने एक बड़ा कदम उठाते हुए बुर्का पहनना ही बंद कर दिया. जालुदपिछले सप्ताह एक मॉल में ट्राउजर  गहरे गुलाबी रंग के टॉप में नजर आईं थीं.वहां भीड़ में से कई लोग उनसे कपड़े को लेकर सवाल कर रहे थे. कई स्त्रियों ने उनसे पूछा क्या वह मॉडल हैं? इसपर जालुद ने हंसते हुए बोला कि वह एक नॉर्मल सऊदी महिला है.

जालुद के अतिरिक्त 25 वर्ष की मानाहेल एल-ओतैबी ने भी बुर्का पहनना छोड़ दिया है. ओतैबी ने बोला कि वह चार महीने से रियाद में बिना अबाया के ही रह रही हैं. वह ऐसी ही बिना किसी बंधन के जीना चाहती हैं. जो मैं पहनना नहीं चाहती, उसके लिए मुझे किसी को विवश नहीं करना चाहिए.

‘पोशाक को लेकर कोई स्पष्ट कानून नहीं’

जालुद ने बोला कि यहां इसके लिए कोई स्पष्ट कानून नहीं है. न ही कोई सुरक्षा है. मुझे खतरा भी होने कि सम्भावना है. धार्मिक कट्टरपंथियों का शिकार होना पड़ सकता है, क्योंकि मैं अबाया नहीं पहनती हूं.उन्होंने जुलाई में ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट कर बोला था-रियाद के मॉल में मुझे बिना अबाया के अंदर नहीं जाने दिया गया. उन्होंने प्रिंस मोहम्मद सलमान के टेलीविजन साक्षात्कार को चलाकर कुछ लोगों को मनाने की असफल प्रयास भी की थी.

बिना अबाया के मॉल में जाने से रोका

उनके पोस्ट के जवाब में मॉल ने ट्विटर हैंडल से लिखा है था-वह ऐसे लोगों को मॉल मेंजाने की अनुमति नहीं देगा, जो सार्वजनिक नैतिकता का उल्लंघन करते हों. सऊदी के शाही परिवार के एक मेम्बर ने भी ट्विटर पर जालोद की निंदा की  इसके लिए सजा देने की मांग की.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!