Breaking News

स्त्रियों की इन सभी समस्याओ का एक मात्र इलाज है अनार का छिलका, जाने इसके फायदे

Loading...

अक्सर फूलों व सब्जी के छिल्कों को बेकार समझकर फेंक दिया जाता है जबकि इनमें औषधीय तत्व होते हैंं. ये कई रोगों सें बचाते हैं.तरबूज, संतरा, अनार, तोरई व लौकी जैसे कई फल व सब्जियां हैं जिनके छिलकों को सुखाकर कई तरह से प्रयोग किया जा सकता है.

  1. तरबूजके छिलके उपयोगी होते हैं. यदि कब्ज की शिकायत रहती है तो तरबूज को छिलके समेत खाएं. छिलका मुलायम होना चाहिए. इससे कब्ज़ में राहत मिलती है. इसके साथ ही दाद, एक्जिमा आदि की समस्या होने पर तरबूजज के छिलकों को सुखाकर जला लें. राख बन जाने पर सरसों के ऑयल में मिलाकर प्रभावित स्थान पर लगाएं, आराम मिलेगा.
  2. जिनकी स्कीन हमेशा खुश्क होती है उनके लिए ये लाभकारी हैं. पपीते के छिलके स्कीन पर लगाने से उसकी खुश्की दूर होती है. फटी एड़ियों पर लगाने से वे मुलायम बनी रहती हैं. पपीते के छिलकों को धूप में सुखाकर बारीक पीस लें. इस पाउडर को ग्लिसरीन के साथ मिलाकर लेप बनाएं व चेहरे पर लगाएं. स्कीन चमकदार हो जाएगी.
  3. संतरों के साथ ही इनका छिलका भी बेहद लाभकारी होता है. यह हडि्डयों को मजबूती देने के साथ ही कब्ज में भी राहत देते हैं. छिलकों के सुखाकर पाउडर बना लें. इसकी चाय बनाकर पिएं. इसका लेप तैयार कर चेहरे पर लगा सकते हैं, यह स्किन को चमकदार बनाता है. संतरे के छिलको को धूप में सुखाकर पीस लें. इस पाउडर को कच्चे दूध और हल्दी में मिलाकर चेहरे पर लगाएं. इससे न केवल मुंहासों का ख़ात्मा होता है बल्कि स्कीन भी चमक उठती है. नींबू का छिलका दांत पर मलने से मसूडे मजबूत बनते हैं. नींबू और संतरे के छिलके सुखाकर महीन पीसकर चूर्ण बना लें. इन्हें दांतों पर घिसने से दांत चमकदार बनते हैं.
  4. जिन स्त्रियों को अधिक मासिक स्राव होता है वे अनार के सूखे छिलकों को पीसकर एक चम्मच पानी के साथ लें. इससे रक्तस्राव घटेगा व पेट दर्द में राहत भी मिलेगी. जिन्हें बवासीर की शिक़ायत है वे 4 भाग अनार के छिलके व 8 भाग गुड़ को कूटकर छान लें व बारीक-बारीक गोलियां बनाकर कुछ दिन तक सेवन करें. अनार के छिलकों को मुंह में रखकर चूसने से ख़ासी शांत होती है. अनार के छिलकों को बारीक पीसकर व उसमें दही मिलाकर सिर पर मलने से बाल मुलायम होते हैं.
  5. तोरई की सब्जी खाना तो आम है पर इसके छिलके से बनी सब्जी पेट के विकारों को दूर करती हैं. तोरई का ताज़ा छिलका स्कीन पर रगड़ने से स्कीन भी साफ होती है.
  6. इलायची के छिलकों को चाय के साथ उबालकर पीने से सर्दी- जुकाम में आराम मिलता है. साथ ही इन छिलकों को चाय पत्ती के डिब्बे में डालकर भी रख सकते हैं. इससे चाय का स्वाद बढ़ेगा.
Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!