Breaking News

फुटबॉल टीम के मैनेजर मार्सेलो बेलसा क्यों है पुराने वन बेडरूम में रहने को विवश

Loading...

अर्जेंटीना की फुटबॉल टीम के मैनेजर मार्सेलो बेलसा की सालाना कमाई 60 लाख पौंड (करीब 58 करोड़ रुपए) है. इसके बावजूद वे पुराने वन बेडरूम में रहने को विवश हैं. चौंकिए नहीं, यह हकीकत है. हालांकि, इसके पीछे जो कारण उसे जानने के बाद आप उनकी तारीफ करने से नहीं चूकेंगे. दरअसल, 64 वर्ष के मार्सेलो का फुटबॉल प्रेम जगजाहिर है. वे इंग्लैंड के लीड्स यूनाइटेड फुटबॉल क्लब के कोच भी हैं.

चैंपियनशिप के दौरान टीम के खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा समय दे सकें इसके लिए मार्सेलो ने क्लब के थोर्प आर्क ट्रेनिंग ग्राउंड के आसपास ही रहने की ठानी. क्लब ने पहले उन्हें पांच सितारा सुविधाओं वाले रडिंग पार्क होटल एंड स्पा में ठहराया था, लेकिन मार्सेलो का वहां से अपने खिलाड़ियों के साथ कम्युनिकेट करने में परेशानी आ रही थी. ऐसे में उन्होंने क्लब के पास छोटे से पुराने फ्लैट में रहने का निर्णय किया.

Loading...

मार्सेलो लोकल कॉफी शॉप में बैठकर अपनी टीम को जिताने की रणनीति तैयार करते हैं. खबरों की मानें तो मार्सेलो अपने कार्य के दौरान अक्सर अपनी पीठ पर एक बैग टांगे रहते हैं. इसके अंदर वे अपने सभी नोट्स रखते हैं. इसके पीछे यह एक कारण यह है कि उन्हें लगता है कि जब भी उन्हें कोई आइडिया आएगा वे तुरंत उसे राइटडाउन (लिख) लेंगे.

मार्सेलो लीड्स यूनाइटेड के साथ अपने करार को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने पिछले सीजन में ही क्लब के पदाधिकारियों को सूचित कर दिया था. हालांकि, ब्यूनस आयर्स में क्लब के पदाधिकारियों के साथ मीटिंग के बाद उन्होंने अपना निर्णय बदला. उनका कोचिंग देने का अंदाज भी बहुत ज्यादा निराला है.

उन्होंने क्लब को स्पष्ट कर दिया था कि ट्रेनिंग सेशंस के दौरान उनके खिलाड़ियों को आराम के लिए बेड मुहैया कराए जाएंगे. इसके अतिरिक्त उसी एरिया में एक पूल टेबल  एक प्ले स्टेशन भी होना चाहिए. मार्सेलो का मानना है कि इससे खिलाड़ियों के दिमाग में मैच को लेकर बढ़े तनाव को कम करने में मदद मिलेगी. उन्होंने अपनी लिस्ट में एक स्वीमिंग पूल को भी जोड़ दिया. ये सभी मांगे मानने के बावजूद ही मार्सेलो लीड्स यूनाइटेड फुटबॉल क्लब के साथ दोबारा जुड़ने के लिए राजी हुए थे.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!