देर रात आतंकियों के साथ पकड़ा गया भारत का ये ऑफिसर, रखा गया यहाँ…

Share & Get Rs.

सरकारी आदेश के अनुसार, निलंबित ऑफिसर का कदम विश्वासघात के बराबर है. आदेश में यह भी बोला गया है कि डीएसपी के इस कार्य से बल की छवि बहुत बेकार हुई है. बताते चलें कि आदेश के अनुसार, सिंह को 2018 मे पुलिस पदक दिया गया था.

 

सरकारी आदेश में कहा, ‘दो आतंकियों को जम्मू और कश्मीर से बाहर निकलने में मदद करने की प्रयास व हथियारों एवं गोला-बारूद की बरामदगी विश्वासघात के बराबर है व इससे बल की छवि बेकार हुई है. इसी के चलते 11 जनवरी को देविंदर सिंह को अरैस्ट कर लिया गया व उनसे शेर-ए-कश्मीर पुलिस पदक वापस लिया जाता है.’

प्रधान सचिव (गृह) शालीन काबरा ने इस आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं. गिरफ्तारी के तुरन्त बाद सिंह के आवास सहित भिन्न-भिन्न जगहों पर पुलिस की टीम भेजी गई थी. बता दें कि सिंह के आवास से दो पिस्तौल, एक AK राइफल व बहुत ज्यादा मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अरैस्ट किए गए डीएसपी से पुलिस पदक को वापस ले लिया गया है. बता दें कि आतंकियों को जम्मू और कश्मीर से बाहर निकलने में मदद करने के आरोप में अरैस्ट पुलिस उपाधीक्षक देविंदर सिंह को बहादुरी के लिए दिया गया शेर-ए-कश्मीर पुलिस पदक बुधवार को ‘वापस’ ले लिया है.

 

Share & Get Rs.