Breaking News

पीएमसी बैंक घोटाले में जांच टीम ने किया खुलासा, मामला 4,355 करोड़ से निकला ज्यादा

Loading...

महाराष्ट्र के सहकारी क्षेत्र के बड़ा बैंक पंजाब व महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक में हुए करोड़ों के घोटाले में हर दिन परत-दर-परत बडे़ खुलासे हो रहे हैं। बैंक की आंतरिक जांच टीम ने एक चौंकाने वाले तथ्य सामने आए है। टीम ने कहा है कि बैंक के रिकॉर्ड से कुल 10.5 करोड़ रुपये नगदी गायब हैं।

जांच टीम को एचडीआईएल और इसकी संबंधित कंपनियों द्वारा जारी किए गए कई चेक मिले हैं। ये चेक बैंक में कभी जमा नहीं किए गए फिर भी उन्हें कैश दे दिया गया। साथ ही एक और हैरान करने वाली जानकारी सामने आई है कि यह घोटाला 4,355 करोड़ का नहीं, बल्कि 6500 करोड़ रुपये से ज्यादा का है। पीएमसी बैंक की आंतरिक जांच टीम को जो चेक मिले हैं, वे 10 करोड़ रुपये से कुछ ज्यादा के हैं।

Loading...

बाकी के 50-55 लाख रुपये का कोई हिसाब नहीं है। इसके अलावा बैंक अधिकारियों ने घोटाले की राशि पहले 4,355 करोड़ रुपये बताई थी, जो अब 6,500 करोड़ रुपये से ज्यादा के आंकड़े को पार कर गई है।

बैंक को रिकॉर्ड से सिर्फ 10.5 करोड़ रुपये नगदी गायब होने की जानकारी मिली, जबकि आरबीआई द्वारा नियुक्त प्रशासक के आदेश पर बैंक के वित्तीय लेनदेन की आंतरिक जांच की जा रही थी। इसी जांच में घोटाले की राशि ज्यादा होने की जानकारी भी सामने आई है। जांच में पता चला है कि एचडीआईएल और ग्रुप की कंपनियां कैश चाहती थीं। उन्होंने पिछले दो साल में बैंक के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर जॉय थॉमस को चेक भेजे।

थॉमस ने उन्हें कैश दिए, लेकिन बैंक में चेक जमा नहीं किए। बैंक के रिकॉर्ड बुक में चेक की एंट्री नहीं है। शक है कि थॉमस ने 50-55 लाख रुपये अपने पास रख लिए। थॉमस ने लोन कमेटी मेंबर्स के साथ एचडीआईएल और इसके डायरेक्टर्स राकेश व सारंग वर्धवान को लोन स्वीकृत किया था। ये तीनों गिरफ्तार किए जा चुके हैं। एक अधिकारी ने बताया, ‘लोन घोटाले की राशि 4,355 करोड़ रुपये से बढ़कर 6,500 करोड़ रुपये से ज्यादा हो गई है।’

माना जा रहा है कि अब एफआईआर में घोटाले की राशि की हेराफेरी की धारा जोड़ी जा सकती है। दूसरी ओर, पीएमसी बैंक के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर जॉय थॉमस को गुरुवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा दिया गया। इसके अलावा मुंबई की सीएमएम कोर्ट ने बैंक के पूर्व डायरेक्टर एस सुरजीत सिंह अरोड़ा को 22 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में भेजा। सुरजीत को बुधवार को ही मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने बैंक घोटाले में गिरफ्तार किया था।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!