Monday , September 21 2020 8:42
Breaking News

सुशांत की मौत को लेकर सामने आया ये बड़ा सच, लोगो को नहीं हो रहा विश्वास

दहिया ने कहा, OP सिंह ने उसके बाद कभी कोई लिखित शिकायत नहीं की. वहीं बिहार पुलिस ने भी अब तक कोई इस चैट से जुड़ी डिटेल के लिए संपर्क नहीं किया है.

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र, बिहार, केंद्र और सुशांत सिंह राजपूत के परिजनों से 3 दिन के भीतर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है. साथ ही महाराष्ट्र सरकार को इस मामले में अब तक की गई जांच की एक रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश जारी किया है. सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर अगले सप्ताह सुनवाई होगी.

DCP ने बताया कि फरवरी 2020 में जो चैट हुई उसमें सैमुअल मिरांडा और रिया चक्रवर्ती को पुलिस थाने बुलाकर धमकाने की बात कही थी और मिरांडा को कस्टडी में रखने के लिए कहा था, जिसे मना कर दिया गया और कहा गया कि कोई शिकायत है तो लिखित में देनी होगी.

परमजीत सिंह दहिया ने कहा कि ओपी सिंह अपनी पत्नी के साथ मुंबई घूमने आए थे. जोन का डीसीपी होने के नाते मुझसे कुछ मदद मांगी थी. दहिया ने बताया कि ओपी सिंह ने होटल में डिस्काउंट और सचिन तेंदुलकर से मिलने की डिमांड की थी, हालांकि उन्होंने ने ये डिमांड पूरी की या नहीं इस सवाल पर उन्होंने जवाब नहीं दिया.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के जीजा और हरियाणा के वरिष्ठ IPS ओपी सिंह ने मुंबई के तत्कालीन जोन 9 के डीसीपी रहे परमजीत सिंह दहिया की चैट सबके सामने रखी और आरोप लगाया कि मुंबई पुलिस को फरवरी महीने में संभावित खतरे के बारे में बताया था. इस पर मुंबई पुलिस के DCP परमजीत सिंह दहिया ने टीवी 9 भारतवर्ष से खास बातचीत में अपना पक्ष रखा.

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!