Sunday , December 8 2019 20:03
Breaking News

भारतीय ग्राहकों को ऑटो सेक्टर की मंदी के दौर में ऐसे मिल रहा लाभ

इस समय ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में सुस्ती का असर कंपनियों के डिस्काउंट पर दिख रहा है. लेकिन इस कारण ग्राहकों को बहुत फायदा पहुंच रहा है. इन दिनों कारों, टू-वीलर और यहां तक कि ट्रकों पर भी भारी छूट मिल रही है. यह डिस्काउंट पिछले कुछ सालों में सबसे ज्यादा है. कंपनियों को भरोसा है कि फेस्टिव सीजन के दौरान मांग बढ़ेगी और भारी डिस्काउंट के चलते नए एमिशन नॉर्म्स लागू होने से पहले स्टॉक को खत्म किया जा सकेगा. बता दें कि नए, यानी बीएस6 एमिशन नॉर्म्स अप्रैल 2020 से लागू हो जाएंगे. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आमतौर पर हाल के सालों में इस समय (अगस्त-सितंबर) 5-7 पर्सेंट का डिस्काउंट मिलता रहा है.मगर इस साल पैसेंजर वीइकल्स पर 29 पर्सेंट और ट्रकों पर 20-25 पर्सेंट तक की छूट मिल रही है. इस साल सितंबर में जितना डिस्काउंट दिया जा रहा है, वह हाल के सालों में दिसंबर में मिलने वाले डिस्काउंट के आसपास है, क्योंकि दिसंबर में स्टॉक खत्म करने के लिए कंपनियां भारी डिस्काउंट देती रही हैं.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी आमतौर पर डिस्काउंट देने के मामले में पीछे मानी जाती है, लेकिन इस साल मारुति भारी-भरकम डिस्काउंट दे रही है. सितंबर में मारुति की कारों पर 30 हजार से 1.2 लाख रुपये तक का डिस्काउंट मिल रहा है. एंट्री लेवल कार ऑल्टो इस समय अपनी कीमत से करीब 18-20 पर्सेंट कम दाम पर उपलब्ध है. वहीं, ह्यूंदै की ग्रैंड आई10 पर 15 पर्सेंट की छूट दी जा रही है.मारुति सुजुकी के सेल्स और मार्केटिंग हेड शशांक श्रीवास्तव ने कहा है कि कंपनी BS-IV स्टॉक को खत्म करने के लिए डिस्काउंट दे रही है. रिटेल सेल्स और इन्क्वॉयरी में कुछ बढ़ोतरी देखी जा रही है. शशांक ने कहा, ‘इस महीने ग्राहकों की इन्क्वॉयरी बढ़ी है और अगस्त में रिटेल सेल्स जुलाई की तुलना में बेहतर रही है. डिस्काउंट स्कीम से इस तरह की स्थिति बन पाई है.

Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!