Monday , October 26 2020 9:34
Breaking News

तनातनी के बीच चीन ने भारत के खिलाफ किया ये, 100 से अधिक की हवाई फायरिंग

भारत और चीन के सैनिकों के बीच हाल ही में हुई गोलीबारी की घटनाओं के बाद सीमा पर यह पहली बैठक हो रही है। पहली घटना तब हुई जब भारतीय सेना ने 29-31 अगस्त के बीच दक्षिणी बैंक पंगोंग झील के पास ऊंचाइयों पर कब्जा करने की चीनी कोशिश को नाकाम कर दिया.

तनातनी के बीच चीन ने भारत के खिलाफ किया ये, 100 से अधिक की हवाई फायरिंग

 

जबकि दूसरी घटना 7 सितंबर को मुखपारी के पास हुई। सेना के सूत्रों ने कहा कि तीसरी घटना 8 सितंबर को पैंगोंग झील के उत्तरी तट के पास हुई थी। इस दौरान दोनों पक्षों के सैनिकों ने 100 से अधिक राउंड हवाई फायरिंग की थी। इस दौरान चीनी सेना बहुत आक्रामक तरीके से बर्ताव कर रही थी।

दोनों पक्षों के बीच एक महीने से अधिक समय के बाद कोर कमांडरों की बैठक हो रही है। भारतीय पक्ष का नेतृत्व 14 कोर के लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करेंगे, जबकि पीएलए मेजर जनरल लिन लियू द्वारा चीनी का प्रतिनिधित्व किया जाएगा।

भारतीय डेलिगेशन में लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह के अलावा मेजर जनरल अभिजीत बापत, मेजर जनरल पदम शेखावत, दीपक सेठ मौजूद होंगे। भारत की ओर से स्थिति साफ कर दी गई है कि वो एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे और अपनी जमीन नहीं छोड़ेंगे।

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जारी तनाव को कम करने के लिए भारत और चीन के बीच बातचीत का सिलसिला फिर शुरू हो गया है। दोनों देशों के बीच आज एलएसी पर चीन की तरफ मोल्दो में छठे दौर की उच्च स्तरीय वार्ता होने जा रही है। जानकारी के मुताबिक कोर कमांडर स्तर की वार्ता के दौरान पहली बार विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव नवीन श्रीवास्तव भी शामिल होंगे।

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!