Saturday , October 24 2020 3:33
Breaking News

लखनऊ में अब पुराने वाहनों पर होगा ये, शुरू कर लें पूरी तैयारी, नहीं तो…

जिन बीएस फोर वाहनों की रजिस्ट्रेशन फीस जमा नहीं हुई है, उनका आवेदन नहीं लिया जाएगा। दरअसल उच्चतम न्यायालय के आदेश पर बीएस फोर वाहनों का पंजीकरण इस वर्ष 31 मार्च तक ही होना था लेकिन 22 मार्च को अचानक लॉक डाउन लागू हो गया।

लखनऊ में अब पुराने वाहनों पर होगा ये, शुरू कर लें पूरी तैयारी, नहीं तो...

 

ऐसी स्थिति में जिन बीएस फोर वाहन मालिकों ने अस्थाई पंजीयन पर गाड़ियां खरीदी थी उनका अब तक स्थाई पंजीकरण नहीं हो सका है।

सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अंकिता शुक्ला ने सोमवार को बताया कि 31 मार्च से पहले खरीदे गए बीएस फोर वाहनों के पंजीकरण के लिए सॉफ्टवेयर में बदलाव किया जा रहा है।

उम्मीद है कि राजधानी में 23 सितम्बर से बीएस फोर वाहनों के पंजीकरण का कार्य शुरू हो जाएगा। इनमें सिर्फ वे बीएस फोर वाहन ही शामिल किए जाएंगे जिनकी रजिस्ट्रेशन फीस जमा हो चुकी है।

राजधानी लखनऊ सहित पूरे उत्तर प्रदेश में इस वर्ष 31 मार्च से पहले खरीदे गए करीब 9700 बीएस फोर मॉडल के वाहनों का अभी तक स्थाई पंजीकरण नहीं हो पाया है।

गत दिनों उच्चतम न्यायालय की मंजूरी के बाद अब परिवहन विभाग इस वर्ष 31 मार्च से पहले खरीदे गए नए बीएस फोर मॉडल के वाहनों के पंजीकरण का कार्य 23 सितम्बर से करने की तैयारी में है।

लखनऊ के ट्रांसपोर्ट नगर आरटीओ कार्यालय में बीएस फोर वाहनों के पंजीकरण के लिए आवेदन बुधवार से लिए जाएंगे। फिलहाल बीएस फोर वाहनों के लिए सॉफ्टवेयर में बदलाव किया जा रहा है।

परिवहन विभाग राजधानी लखनऊ में इस वर्ष 31 मार्च से पहले खरीदे गए बीएस फोर मॉडल के वाहनों के स्थाई पंजीकरण का कार्य 23 सितम्बर से शुरू करने की तैयारी में है। पंजीकरण सिर्फ ऐसे बीएस फोर वाहनों के किए जाएंगे जिनकी रजिस्ट्रेशन फीस पहले जमा हो चुकी है।

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!