Sunday , December 8 2019 0:16
Breaking News

गूगल ने मनाया अपना डूडल 21 वर्ष सारे करने पर कुछ इस तरह किया सेलिब्रेट

गूगल आज अपना 21वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही है. इसके लिए उसने एक डूडल तैयार किया है, जिसमें पुराना कम्प्यूटर रखा है. उसकी स्क्रीन पर गूगल सर्च इंजन नजर आ रहा है. साथ ही, मॉनिटर के पास सीपीयू, कीबोर्ड व माउस भी दिख रहा है. इस फोटो में ’98 9 27′ (27 सितंबर, 1998) भी लिखा गया है. दुनियाभर में सबसे ज्यादा सर्चिंग के लिए गूगल का प्रयोग किया जाता है. गूगल एक कंपनी के तौर पर 4 सितंबर, 1998 को रजिस्टर की गई थी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि गूगल के मौजूदा सीईओ भारतीय मूल के सुंदर पिचाई हैं.

गूगल को ज्यादातर यूजर्स सर्च इंजन के नाम से ही जानते हैं, लेकिन ये ऐसी कंपनी है जिसके पास कुल 201 प्रोडक्ट्स व सर्विसेज हैं. इसमें जीमेल, गूगल प्लस, गूगल ड्राइव, गूगल फोटोज, डॉक्स, गूगल मैप्स, यूट्यूब, क्रोम, क्लाउड प्रिंट, प्ले स्टोर, एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम समेत अन्य हैं.

  1. एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम बाजार में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला मोबाइल ओएस बन गया है. नंबर वन ऑपरेटिंग सिस्टम होने के साथ-साथ इस ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम को लेकर कई लोगों के मन में सवाल उठता होगा कि आखिर इसका नाम मिठाइयों के नाम पर क्यों रखा गया है. गूगल के एक कर्मचारी रैनडल सराफा (Randall Sarafa) के हिसाब से यह टीमवर्क के कारण है. इस बारे में कंपनी ने आधिकारिक खुलासा नहीं किया है. आपको गौरतलब है की गूगल के एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम को ABCD के अल्फाबेट के हिसाब से नाम दिए गए हैं. Cupcake, Donut, Eclair, Froyo, Gingerbread, Honeycomb, Ice Cream Sandwich, Jelly Bean व हालिया KitKat.
  2. गूगल का पहला डूडल ‘बर्निंग मैन फेस्टिवल’ पर 1998 में बनाया गया था. इसमें गूगल का सर्च पेज बदल दिया गया था. मई 2012 में गूगल ने अपने डूडल को नया रूप दिया. यह एक गेम के रूप में था, ऐसा पहली बार हुआ था कि उपभोक्ता गूगल डूडल के साथ खेल सकता था. यह गेम Pac-Man वीडियो गेम के 30 वर्ष सारे होने की खुशी में बनाया गया था. इसी वर्ष गूगल ने अपना पहला एनिमेटेड (कार्टून) डूडल अपडेट किया था. यह जॉन लेनन के 70 वें जन्मदिन के कारण बनाया गया था.
  3. शुरुआती दौर में गूगल के निर्माणकर्ता सर्जी ब्रिन व लैरी पेज गूगल को बेचने के लिए एक्साइट कंपनी के CEO के पास गए थे. यह दोनों गूगल कंपनी को 1 मिलियन डॉलर में बेचना चाहते थे. एक्साइट कंपनी की तरफ से गूगल को सिर्फ 750000 डॉलर ही ऑफर किए गए. उस समय ये सौदा नहीं हो पाया व गूगल ने बाद में इतना विशाल रूप ले लिया.
  4. गूगल की तरफ से नवंबर 1999 में एक शेफ रखा गया. चार्ली अइयर्स (Charlie Ayers) को शुरुआती दौर में 40 कर्मचारियों का खाना बनाना होता था. उनके कार्य को मीडिया में बहुत ज्यादा सराहा गया. 2006 में चार्ली ने गूगल को छोड़ा इस समय तक गूगल के इस मास्टर शेफ के पास टीम में 4 खास शेफ व 150 लोगों की टीम बन चुकी थी. यह टीम एक दिन में 4000 लंच व डिनर परोसा करती है.
  5. गूगल के बारे में रोचक बात यह है कि 2010 से गूगल ने लगभग हर सप्ताह एक नयी कंपनी में निवेश किया है. 2010 में गूगल एनर्जी के साथ गूगल ने अपना पहला निवेश प्रारम्भ किया. इसके बाद ‘नेक्स्ट एरा एनर्जी रिसोर्स’ में दूसरी बार इंवेस्ट किया. इसी वर्ष ‘ग्लोबल आईपी सॉल्यूशन’ व ऐसी ही कई कंपनियों को गूगल ने अपने साथ मिला लिया. इसके बाद एंड्रॉइड, मोटोरोला, क्विकऑफिस जैसी कई कंपनियों को गूगल ने अपने साथ मिला लिया. हालांकि, अब मोटोरोला कंपनी को लेनोवो ने खरीद लिया है. अगले कुछ महीनों में मोटोरोला व लेनोवो की डील पूरी हो जाएगी.
  6. गूगल सर्च इंजन के नाम की स्पेलिंग उसके संस्थापकों द्वारा की गई गलती के कारण GOOGLE लिखी गई. इसका नाम लिखते समय गलती से GOOGLE लिख दिया गया. इस कंपनी को असल में GOOGOL नाम दिया जाना था.
  7. बहुत कम लोग यह जानते हैं कि गूगल ने अपनी पहली ट्वीट कम्प्यूटर की भाषा जिसमें 0 व 1 का प्रयोग किया जाता है -‘बाइनरी (Binary)’ में की थी.
    यह ट्वीट थी-

    “I’m 01100110 01100101 01100101 01101100 01101001 01101110 01100111 00100000 01101100 01110101 01100011 01101011 01111001 00001010.”

    अंग्रेजी में इसका मतलब है ‘ im feeling lucky’ गूगल के सर्च बटन के बगल में आपको यही शब्द लिखे मिलेंगे. इस पर क्लिक करते ही आप अब तक के सभी गूगल डूडल के बारे में जानकारी ले सकते हैं.

  8. गूगल की ई-मेल सर्विस GMAIL 16 दिसंबर 2005 में लॉन्च की गई थी. इस सर्विस को 50 भिन्न-भिन्न भाषाओं में लॉन्च किया गया. GMAIL का आइडिया राजन सेठ ने दिया था जब वो गूगल में साक्षात्कार देने के लिए गए थे. इस आइडिया को बाद में पॉल बुचे (Paul Buchhe) ने वास्तविक आकार दिया. शुरुआती दौर में GMAIL को सिर्फ गूगल कंपनी के कर्मचारियों के लिए बनाया गया था. अप्रैल 1, 2004 को इसे आधिकारिक तौर पर संसार भर के यूजर्स के लिए प्रारम्भ करने की घोषणा की गई.
  9. गूगल के शेयर बेचने पर कंपनी के करीब 1000 कर्मचारी करोड़पति बन गए, जब 2004 में कंपनी ने अपने शेयर्स आम लोगों के लिए निकाले. उनमें से एक बोनी ब्राउन (Bonnie Brown) 1999 में 450 डॉलर प्रति सप्ताह के वेतन पर कार्य किया करते थे.
  10. अगर सर्च इंजन के डिजाइन की बात करें तो गूगल का सर्च इंजन सबसे सुन्दर लगेगा. बीच में गूगल का सर्च बार व ऊपर लिखा हुआ गूगल. शुरुआती समय में गूगल का लोगो स्क्रीन पर लेफ्ट साइड था. गूगल का सर्च पेज 31 मार्च, 2001 में बदला गया था.
Share & Get Rs.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!