कृषि बिल के खिलाफ 5 सितंबर को आयोजित होने वाली महापंचायत में गठवाला खाप में मतभेद

Share & Get Rs.

भारत सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि बिल का विरोध कम होने का नाम नहीं ले रहा है. जहां एक और भाजपा को समर्थन करने वाले किसानों और किसान आंदोलन के समर्थन में खड़े किसानों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है.

भाजपा विधायक उमेश मलिक पर बालियान खाप के गांव सिसौली में हुई अभद्रता को लेकर 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत का बहिष्कार करते नजर आ रहे हैं.

पंचायत में बावड़ी खाप के थाम्बेदार चौधरी श्याम सिंह सहित गठवाला खाप के कई थाम्बो के मुखिया सहित भारी संख्या में लोग पहुंचे जिसमें सर्वसम्मति से किसान आंदोलन को किसानों की लड़ाई करार देते हुए उसका समर्थन करने की बात कही गई और गठवाला खाप से भारी संख्या में लोगों के पहुंचने का भी आह्वान किया गया.

दूसरी ओर जनपद शामली के लिसाड़ गांव में गठवाला खाप के चौधरी राजेंद्र सिंह मलिक के आवास पर भी एक पंचायत बुलाई गई. उसमें गठवाला खाप के मुखिया चौधरी राजेंद्र सिंह मलिक ने कहा कि, वे लोग समाज को तोड़ना चाहते हैं और हम इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने फिर किसान आंदोलन का समर्थन ना करने की बात दोहराई.

Share & Get Rs.