राहुल को समन पर उबली कांग्रेस,बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन…

Share & Get Rs.

लोकतांत्रिक देश में बड़े राजनीतिक विरोध कई उद्देश्यों को पूरा करते हैं। खास तौर से एक ऐसी पार्टी के लिए जो निराशा में हो, उसके लिए यह नई ऊर्जा और गति का स्रोत बन सकते हैं। अगर शीर्ष नेता को निशाना बनाया जाता है, तो विरोध वफादारी और एकजुटता दिखाने का भी काम कर सकता है।

फिलहाल, कांग्रेस शायद दोनों की उम्मीद कर रही है क्योंकि राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड मामले में समन किए जाने के खिलाफ बड़ी संख्या में पार्टी नेता प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के कार्यालय तक पहुंचे। लेकिन क्या इससे पार्टी को सत्ता हासिल करने के लिए जनता का समर्थन हासिल करने में मदद मिलेगी, खासकर तब जब केंद्रीय मुद्दा भ्रष्टाचार का हो?

कांग्रेस या अन्य विपक्षी दलों की ओर से इस तरह के बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन गायब रहे हैं। उदाहरण के लिए, रविवार को प्रयागराज सहित उत्तर प्रदेश के अन्य हिस्सों में बुलडोजर चलने का मामला है। यह ऐसा मुद्दा जिसने अल्पसंख्यकों को नाराज कर दिया है, जो मानते हैं कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। इस बारे में कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कोई ट्वीट तक नहीं किया।

Share & Get Rs.