Monday , September 28 2020 13:19
Breaking News

चीनी सेना ने अरुणाचल प्रदेश में 5 युवकों को किया…, बिगड़ सकते हालात, सेन कर रही ये मांग

इसकी जानकारी स्थानीय लोग भारतीय प्रशासन को देते रहते हैं। माना जा रहा है कि लद्दाख में भारत से मुंह की खाने के बाद चीन की सेना बेहद परेशान है।

 

इसलिए अपनी खीझ मिटाने के लिए अरुणाचल के पांच युवकों का अपहरण किया है। यह भी हो सकता है कि इन युवकों का अपहरण भारतीय सेना की तैयारियों की जानकारी हासिल करने के लिए किया गया हो।

लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ इस समय चीन के साथ चल रहे तनाव के चलते अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों में भी पूरी तरह से चौकसी बरती जा रही है। इसके बावजूद चीनी सेना भारतीय सीमा के दुर्गम इलाकों में चोरी-छिपे घुसपैठ करने की फिराक में रहती है।

इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं अरुणाचल प्रदेश के भारत-तिब्बत सीमाई इलाके में हुई हैं। हाल ही में भी इस तरह की एक घटना में एक अरुणाचली नागरिक को चीनी सेना अपने साथ ले गयी थी लेकिन कुछ दिनों के बाद उस युवक को वापस छोड़ दिया था। इस घटना से सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों के बीच डर का माहौल देखा गया है।

दो युवक मौके से भाग निकलने में सफल रहे जिन्होंने घर पहुंचने के बाद अपने गांव के बुजुर्गों और युवकों के परिजनों को इस बारे में बताया। इस पर अपह्रत पांचों युवकों के परिवार वालों ने स्थानीय प्रशासन और भारतीय सेना को मामले से अवगत कराते हुए युवकों चीनी सेना के चंगुल से छुड़ाने की मांग की है।

बताया गया है कि तोच सिगंकाम, प्रशांत रिंगलिंग, दोंगतू इबिया, तानू बाकर और गारु दिरी अपने दो अन्य साथियों के साथ इलाके में हमेशा की तरह शिकार की तलाश में गए थे। इसी बीच चीनी सेना की वर्दी में कुछ जवान भारतीय इलाके में चोरी-छिपे आए और उक्त पांचों युवकों को पकड़कर अपने साथ ले गए।

अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले से तागिन समुदाय के पांच लोगों का चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) सेना ने अपहरण कर लिया है। वहीँ  इन्हें जिले के नाचो सर्कल के पास भारत-तिब्बत सीमा क्षेत्र से अगवा किया गया है।

 

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!