Breaking News

LAC पर चीन ने की ये बड़ी हरकत, तैनात की 1,000 सैनिकों की बटालियन

भारत ने लिपुलेख से तिब्बत में मानसरोवर तक सड़क बनाई है और नेपाल को इस पर आपत्ति है. नेपाल का कहना है लिपुलेख उसका इलाक़ा है जबकि भारत ने स्पष्ट कर दिया है कि उसने अपने इलाके में सड़क बनाई है.

 

भारत के हजारों तीर्थयात्री कैलाश मानसरोवर कई रूट से जाते हैं लेकिन लिपुलेख रूट को छोटा बताया जा रहा है. इस रूट से जाने पर कम वक्त लगेगा.

टॉप मिलिट्री कमांडर ने बताया, “चीन LAC पर अपनी साइड इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में लगा हुआ है. चीनी सेना PLA लद्दाख के अलावा अन्य जगहों पर भी अपनी उपस्थिति बढ़ा रही है. इससे LAC पर तनाव की स्थिति बनी हुई है.”

एक टॉप मिलिट्री कमांडर ने बताया, “लिपुलेख पास, उत्तरी सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से लगी LAC पर चीनी सैन्य टुकड़ियों की मौजूदगी बढ़ी है.”रिपोर्ट के मुताबिक, बॉर्डर से कुछ दूरी पर लिपुलेख पास के समीप PLA ने करीब 1,000 सैनिकों की एक बटालियन भेजी है.

15 जून को पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. वहीं चीन ने अपने सैनिकों के हताहत होने का कोई आंकड़ा जारी नहीं किया था.

(LAC) पर चीन (China) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के जवानों की एक बटालियन उत्तराखंड के लिपुलेख पास के समीप तैनात की है. ध्यान रहे कि पूर्वी लद्दाख में LAC पर कुछ हफ्तों से दोनों देशों के बीच पहले ही तनाव बना हुआ है.

 

 

 

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!