Sunday , September 20 2020 3:42
Breaking News

चीन ने किया ये खतरनाक काम , कैलाश-मानसरोवर में तैनात किया…, भारी संख्या में…

जैन इस पहाड़ को अस्तपद कहते हैं और इसे वह स्थान माना जहां उनके 24 आध्यात्मिक गुरुओं में से प्रथम ने मोक्ष प्राप्त किया। तिब्बत का बौद्ध पूर्व धर्म बोन्स के अनुयायी इस पर्वत को आकाश की देवी सिपाईमेन का निवास स्थान बताया। यह पवित्र स्थल सिंधु, ब्रह्मपुत्र, सतलज और कर्णाली (गंगा की एक प्रमुख सहायक नदी) का उद्गम स्थल भी है।

 

वहीँ विशेषज्ञों के मुताबिक, मिसाइल की तैनाती चीन की ओर से जारी आक्रामक उकसावे का हिस्सा है, जिससे दोनों देशों के बीच सीमा विवाद और जटिल हो सकता है।

एक रिपोर्ट में यह बात कही है। कैलाश पर्वत और मानसरोवर झील, जिसे आमतौर पर कैलाश-मानसरोवर स्थल के रूप में जाना जाता है, चार धर्मों द्वारा पूजनीय है.

भारत में सांस्कृति और आध्यात्मिक शास्त्रों से जुड़ा हुआ है। हिंदू इस स्थल को शिव और उनकी पत्नी पार्वती का निवास मानते हैं, तिब्बती बौद्ध लोग पहाड़ को कंग रिंपोछे कहते हैं।

चीन अपनी हरकतों से बाज़ नही आ रहा है, भारतीय जवानों के साथ झडप की खबर के बाद अब चीन ने एक और दुस्साहस किया है. आपको बता दें कि ऐसे में लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारत के साथ तनाव और तनातनी के बीच चीन एक झील के किनारे जमीन से हवा में मार करने वाले मिसाइलों को तैनात कर रहा है। यह झील कैलाश-मानसरोवर का हिस्सा है।

 

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!