Friday , November 22 2019 17:13
Breaking News

 बीजेपी के नेता को हत्यारों ने गोली मारकर किया घायल, हत्यारे फरार

Loading...

बीजेपी नेता जलेश्वर साह को रितूडीह स्थित ऑफिस के सामने बाइक सवार अपराधियों ने सोमवार दोपहर एक बजे तीन गोली मारकर घायल कर दिया. गंभीर स्थित में उन्हें बोकारो जनरल अस्पताल लाया गया, जहां से डॉक्टरों ने रांची, मेडिका अस्पताल रेफर कर दिया. गोली मारने से पहले अपराधियों ने दो मिनट बात की थी.

व्यवसायी को 3.15 एमएम की तीन गोली लगी है, जिसमें एक गोली कंधे को आगे से भेदती हुई पीछे से निकल गई. वहीं, दो गोली पसली के नीचे पेट के पास लगी है, जो अंदर फंसी है. बीजीएच में गोलियों को नहीं निकाला जा सका. जिस कारण शाम छह बजे उन्हें एंबुलेंस से मेडिका रांची रेफर कर दिया गया. बालीडीह थाने की पुलिस एंबुलेंस को स्कॉर्ट कर रांची तक ले गई है. बोकारो विधायक बिरंची नारायण और जख्मी के परिवार के मेम्बर भी साथ गए हैं. ज्ञात हो कि जलेश्वर साह बीजेपी माराफारी मंडल की कोर कमेटी के मेंबर, स्क्रैप के बड़े व्यवसायी और रितूडीह मुखिया के पति हैं.

Loading...

दोपहर एक बजे की घटना : जलेश्वर साह जिला बीजेपी उपाध्यक्ष वृंदा सिंह की सड़क एक्सीडेंट में उपचार के दौरान बीजीएच में हुई मृत्यु के बाद देखने गए थे. वहां से बीजेपी उपाध्यक्ष की मृत शरीर यात्रा में शामिल हुए. मृतक नेता के सेक्टर नौ स्थित ससुराल और सेक्टर 5 स्थित घर जाने के बाद अपने चालक के साथ कार से रितूडीह स्थित ऑफिस सह गोदाम पहुंचे. जैसे ही कार से उतरे पीछे से रुकने की आवाज आई. हमलावरों ने दो मिनट बात की  दनादन तीन गोली मारी दी.

तीन बाइक पर थे छह हमलावर : प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि तीन बाइक पर सवार होकर छह हमलावर घटना को अंजाम देने आए थे. दो बाइक को स्टॉर्ट कर फोरलेन किनारे खड़े थे. चार हमलावरों ने गोली चलाई. 3.15 एमएम की दो गोली शरीर के अदंर फंसी है, जो स्पष्ट करती है कि हमले में देशी कट्टे का प्रयोग किया गया है. चार हमलावरों ने सिंगल शॉर्ट की देशी कट्टे से चार गोली दागी.

शूट आउट पर भी साहस : अपराधियों ने जब पहली गोली चलाई तो कंधे से पार हो गई. इसके बाद जलेश्वर ने दौड़ कर अपराधियों को साहस दिखाते हुए दबोचने का कोशिश किया. तबतक घेर कर शरीर के दूसरे हिस्से में गोली दाग दी. गोली लगे हालत में भागकर गोदाम के पीछे अपने घर की ओर दौड़े. घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर फोरलेन की भीड़ का लाभ उठाकर फरार हो गए.

रितूडीह से बीजीएच तक अफरा-तफरी : गोली लगने के बाद खून से लतपथ जलेश्वर को बाइक से लेकर आसपास के लोग बीजीएच पहुंचे. देखते ही देखते बीजीएच परिसर भीड़ से भर गया, जो भीड़ रांची मेडिका भेजे जाने तक बनी रही.

गैंगवार या रंजीश : घटना के बाद से इंस्पेक्टर राजीव कुमार, इंस्पेक्टर प्रमोद पांडे, डीएसपी सतीश चंद्र झा घटनास्थल से लेकर बीजीएच तक कैंप कर रहे थे. एसपी पी मुरुगन ने घटनास्थल का दौरा किया. वह बीजीएच पहुंचे. वहां जख्मी की गम्भीर स्थिति के कारण बयान नहीं ले पाए. बोला कि पुलिस हर संभावित बिंदू पर जाँच को आगे बढ़ा रही है. घटना गैंगवार का भाग है या किसी रंजीश का, सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा.

गिरोह का थ्रैट : एसपी ने माराफारी और बालीडीह पुलिस की रिकॉर्ड का अवलोकन करते हुए यह बताया कि जलेश्वर के विरूद्ध वैसे किसी भी आपराधिक रैकेट का थ्रैट नहीं था. एक साल पूर्व उसे थ्रैट मिला था, इस बिंदू पर भी तथ्यों को खंगाला जा रहा है.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!