Wednesday , February 19 2020 3:17
Breaking News

विमान में तकनीकी खराबी आने के बाद पायलेट ने हवा में ही गिरा दिया ये सब, 20 बच्चे और 11 वयस्क को…

लॉस एजेंल्स एयरपोर्ट से चीन के शंघाई शहर के लिए उड़ान भरने वाली डेल्टा फ्लाइट 89 ने हवा में ईंधन को खाली कर दिया, जिसकी वजह से 20 बच्चे और 11 वयस्क घायल हो गए। बताया जा रहा है कि विमान के इंजन में तकनीकी खराबी आने के बाद उसे वापस एयरपोर्ट में इमरजेंसी लैंडिंग कराने के लिए कहा गया था।

विमान में 140 यात्री सवार थे। मगर, इससे पहले जरूरी था कि विमान अपना फ्यूल टैंक खाली कर दे, ताकि उसका वजन भी कम हो जाए और दुर्घटना होने की स्थिति में ईंधन कम होने की वजह से हादसा न हो।लिहाजा, विमान ने पांच प्राइमरी स्कूल और एक हाईस्कूल के ऊपर के उड़ान भरते हुए जेट फ्यूल को गिरा दिया, जिसमें कई लोग घायल हो गए।

बच्चों ने शिकायत की थी कि उन्हें जलन महसूस हो रही है। प्राथमिक उपचार दिए जाने के बाद उन्हें घरों में वापस भेज दिया गया। मामले की जानकारी मिलते ही 70 दमकल अधिकारियों और पैरामेडिक्स को मौके पर भेज दिया गया था। लॉस एंजिल्स वर्ल्ड एयरपोर्ट्स और एलए काउंटी फायर डिपार्टमेंट के साथ-साथ सामुदायिक नेताओं के साथ डेल्टा संपर्क में है। कंपनी ने कहा कि वह इस क्षेत्र के स्कूलों में वयस्कों और बच्चों को आई मामूली चोटों के बारे में चिंताओं को शेयर करता है।

विमान 20 साल पुराना है और लॉस एंजिल्स से शंघाई के लिए रोजाना उड़ान भरता है। हाल के हफ्तों में इस विमान ने लॉस एंजेल्स से पेरिस और टोक्यो की भी उड़ान भरीत थी। फ्लाइटरडार 24 के अनुसार, मंगलवार की उड़ान कभी भी 8,000 फीट से अधिक नहीं गई थी और यह 11:53 बजे स्कूल के ऊपर से गुजरते समय लगभग 2,300 फीट की ऊंचाई पर था। आमतौर पर 13 घंटे की नॉनस्टॉप फ्लाइट होती है, लेकिन इस बार लगभग 25 मिनट की उड़ान हो सकी और विमान को वापस एयरपोर्ट पर लैंड करना पड़ा।

विमान में 12 घंटे की उड़ान के लिए पर्याप्त ईंधन था। जब किसी विमान के इंजन का कंप्रेसर रुक जाता है, तो इससे इंजन के माध्यम से एयरफ्लो कम हो जाता है, जिससे इंजन फेल हो सकता है।

Share & Get Rs.
error: Content is protected !!