Breaking News

यौन उत्पीड़न के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को पुलिस ने रंगे हाथो किया अरैस्ट, पढ़े पूरी ख़बर

Loading...

कई दिनों की जद्दोजहद के बाद अंतत: यौन उत्पीड़न के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार प्रातः काल अरैस्ट कर लिया गया. चिन्मयानंद को उनके ही कॉलेज की छात्रा  उसके पिता द्वारा दर्ज कराए गए यौन शोषण  बलात्कार के मुद्दे में हिरासत में लिया गया है. गिरफ्तारी स्वामी के ही मुमुक्ष आश्रम से हुई बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि एसआईटी टीम ने उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर चिन्मयानंद को शुक्रवार प्रातः काल उनके मुमुक्षु आश्रम से हिरासत में लिया गया है. खबर एजेंसी ने गिरफ्तारी की फोटोज़ भी जारी की हैं.

सूत्रों के मुताबिक, “गिरफ्तारी एसआईटी की टीम द्वारा की गई है. गिरफ्तारी से पूर्व चिन्मयानंद के सहयोगियों  समर्थकों ने खासा विरोध भी किया. पहले से हर बाधा से निपटने को तैयार एसआईटी ने मगर चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के विरोध को विफल कर दिया.

Loading...

फिलहाल एसआईटी आरोपी से पूछताछ में जुटी है. बताते चलें कि कई दिन से एसआईटी की जाँच पर सवालिया निशान लगाए जाने लगे थे. वजह थी तमाम गवाह सबूतों की मौजूदगी के बाद भी आरोपी स्वामी की गिरफ्तारी न होना.

दो दिन पहले ही पीड़िता ने न्यायालय में धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराए थे. तभी आशंकाएं प्रबल होने लगी थीं कि, चिन्मयानंद की गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है. उधर पीड़िता के न्यायालय में बयान दर्ज कराते ही आरोपी चिन्मयानंद कथित बीमारी के चलते अस्पताल में भतीर् हो गया था.

दूसरी ओर स्वामी को अरैस्ट न किए जाने से नाराज पीड़ित छात्रा ने कुछ घंटे पहले ही धमकी दी थी कि अगर आरोपी अब भी अरैस्ट नहीं किया गया तो वो आत्महत्या कर लेगी. सूत्र बताते हैं कि पीड़िता की इस धमकी के बाद ही एसआईटी की जाँच में आकस्मित तेजी आ गई. जिसका परिणाम एसआईटी द्वारा स्वामी की गिरफ्तारी के रूप में सामने आया है.

गौरतलब है कि, स्वामी पर उनके ही कॉलेज में पढ़ने वाली कानून की एक छात्रा ने बलात्कार  ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया था. बाद में उच्चतम न्यायालय ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय की दो सदस्यीय विशेष पीठ गठित करवा कर सारे मुद्दे की जाँच के लिए एसआईटी गठित करने का निदेर्श दिया था. स्वामी को अरैस्ट करने वाली एसआईटी टीम का नेतृत्व उत्तर प्रदेश पुलिस के महानिरीक्षक नवीन अरोरा कर रहे हैं.

स्वामी चिन्मयानंद केस पर एक नजर(Timeline)

-23 अगस्त को एलएलएम छात्रा (LLM student) एसएस लॉ कालेज (SS Law College) के हास्टल से लापता हो गई

-24 अगस्त को एलएलएम छात्रा ने अपने फेसबुक अकाउंट से आरोप लगाते वीडियो अपलोड किया

-25 अगस्त को स्वामी चिन्मयानंद के एडवोकेट की ओर से पांच करोड़ रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज

-25 अगस्त को छात्रा के पिता की ओर से स्वामी चिन्मयानंद के विरूद्ध कोतवाली में तहरीर दी गई

-26 अगस्त को कोतवाली पुलिस ने गुमशुदगी के आधार पर छात्रा की तलाश प्रारम्भ कर दी

-27 अगस्त को उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने मुद्दे को स्वत: संज्ञान लिया, स्वामी पर अपहरण, धमकी का मुकदमा

-28 अगस्त को छात्रा ने अपनी मां के पास फोन किया, बताया कि उसके पास वीडियो रिकार्डिंग है

-28 अगस्त को महिला आयोग ने मुद्दे का संज्ञान लिया, प्रियंका गांधी ने बीजेपी पर वार किया

-29 अगस्त को उच्चतम न्यायालय ने संज्ञान लिया, छात्रा को बरामद कर पेश करने का आदेश दिया

-30 अगस्त को पुलिस ने राजस्थान से छात्रा को बरामद किया, उच्चतम न्यायालय में पेश किया गया

-31 अगस्त को पिता ने बोला कि बेटी ने दिल्ली बुलाया है, पुलिस के आने पर जाएंगे सब दिल्ली

-1 सितंबर को चिन्मयानंद के बयान लेने के लिए शाहजहांपुर पुलिस हरिद्वार गई, मिले नहीं

-2 सितंबर को उच्चतम न्यायालय में छात्रा के बयान हुए, एसआईटी गठित करने, दूसरे स्कूल में दाखिले के निर्देश

-3 सितंबर को उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव ने नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर न्यायालय को सूचित किया

-4 सितंबर को स्वामी चिन्मयानंद ने मौन तोड़ा, मीडिया से बोला अपने कालेज के लोगों की साजिश है

-5 सितंबर को छात्रा ने दिल्ली में स्वामी चिन्मयानंद के विरूद्ध जीरो नंबर पर दुराचार का मुकदमा लिखाया, केस उत्तर प्रदेश ट्रांसफर

-6 सितंबर को आईजी नवीन अरोड़ा के नेतृत्व में एसआईटी शाहजहांपुर पहुंची, मीडिया से वार्ता की, कागज आदि जुटाए

-7 सितंबर को एसआईटी एसएस लॉ कालेज गई, सब चीजें देखीं

-8 सितंबर को एसआईटी ने छात्रा, उसके पिता, दोस्त संजय से पुलिस लाइन अस्थाई ऑफिस बुला कर पूछताछ की

-9 सितंबर को एलएलएम छात्रा मीडिया के सामने आई, बोला कि दुराचार करते थे स्वामी, डीएम ने पापा को धमकाया था

-10 सितंबर को एसआईटी कालेज गई, आठ घंटे तक हास्टल का रूम खंगाला. स्वामी की 16 वीडियो वायरल. छात्रा का वीडियो भी वायरल

-11 सितंबर को एसआईटी ने महिला अस्पताल में छात्रा का मेडिकल कराया

-12 सितंबर को स्वामी चिन्मयानंद से पुलिस लाइन में आधी रात के बाद तक पूछताछ, 3.30 बजे दिव्यधाम का शयनकक्ष सील

-13 सितंबर को एसआईटी ने दिव्य धाम के शयन कक्ष को खंगाला, कई चीजें कब्जे में लीं, छात्रा ने 43 वीडियो एसआईटी को सौंपे

-14 सितंबर को एसआईटी ने पुलिस लाइन में छात्रा की मां, कालेज स्टाफ  स्वामी के व्यक्तिगत स्टाफ के छह से अधिक लोगों से पूछताछ की

– 17 सितंबर को चिन्मयानंद की तबीतय बेकार हुई.

-20 सितंबर को चिन्मयानंद की गिरफ्तारी

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!