Breaking News

9 वर्ष की सेवा के बाद रिटायर होने वाला नासा का ग्रहों की खोज करने वाला केप्लर दूरबीन

 अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का ग्रहों की खोज करने वाला केप्लर दूरबीन 9 वर्ष की सेवा के बाद रिटायर होने वाला है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि 2,600 ग्रहों की खोज में मदद करने वाले केप्लर दूरबीन का ईंधन खत्म हो गया है इसलिए उसे रिटायर किया जा रहा है।Image result for रिटायर हो रहा है ग्रहों की खोज करने वाला नासा का दूरबीन केप्लर

विशेषज्ञों का कहना है कि 2009 में स्थापित इस दूरबीन ने अरबों छुपे हुए ग्रहों से हमें अवगत कराया और ब्रह्मांड की हमारी समझ को बेहतर बनाया। नासा की ओर से जारी बयान के मुताबिक केप्लर ने दिखाया कि रात में आकाश में दिखने वाले 20 से 50 प्रतिशत तारों के सौरमंडल में पृथ्वी के आकार के ग्रह हैं और वह अपने तारों के रहने योग्य क्षेत्र के भीतर स्थित हैं।

loading...

इसका मतलब है कि वे अपने तारों से इतनी दूरी पर स्थित हैं, जहां इन ग्रहों पर जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण पानी के होने की संभावना है। नासा के एस्ट्रोफिजिक्स विभाग के निदेशक पॉल हर्ट्ज का कहना है कि केप्लर का जाना कोई अनपेक्षित नहीं था।

केप्लर का ईंधन खत्म होने के संकेत करीब 2 सप्ताह पहले ही मिले थे। उसका ईंधन पूरी तरह से खत्म होने से पहले ही वैज्ञानिक उसके पास मौजूद सारा डेटा एकत्र करने में सफल रहे। नासा का कहना है कि फिलहाल केप्लर धरती से दूर सुरक्षित कक्षा में है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!