Breaking News

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के इतिहास में पहली बार एक साथ छह महिलाएं…

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के इतिहास में ये पहला मौका है, जब आगामी चुनाव में एक साथ छह महिलाएं डेमोक्रेटिक पार्टी से संभावित उम्मीदवारी के लिए अपना भाग्य आजमा रही हैं. उस पर ये भी पहली बार है कि इनमें दो महिलाएं, कमला हैरिस और तुलसी गाबार्ड भारत मूलवंशी हैं.

डेमोक्रेटिक नेशनल पार्टी अगले साल तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपने संभावित उम्मीदवार को तय करने को लेकर 26 और 27 जून को एडरिएने अर्शत सेंटर, डाउन टाउन, मियामी में एनबीसी टीवी की ओर से ओपेन डिबेट कराएगी. ये डिबेट लाइव होगी.

loading...

साल 1948 में पहली रेडियो डिबेट से लेकर अब तक राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिक और डेमोक्रेटिक 170 डिबेट में मात्र पांच महिलाओं ने हिस्सा लिया हैं. इस डिबेट में पहले दिन दस और अगले दिन दस संभावित उम्मीदवार होंगे. इस चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार के रूप में हैं,

जबकि डेमोक्रेटिक पार्टी से संभावित बीस उम्मीदवारों में पूर्व राष्ट्रपति जोई बिडेन पहले उम्मीदवार हैं, जो देशभर में हुए सर्वे में पहला स्थान बनाए हुए हैं. इस चुनाव में महिलाओं की भागीदारी के मद्देनजर डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि पिछले चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन बेहद प्रतिभाशाली थीं. इस बार छह महिलाएं नेशनल डिबेट के लिए मैदान में हैं,

उनमें सिनेटर एलिज़ाबेथ वारेन (मैसाचुटेस), अमी क्लोबचर (मिनिसोटा), कमला हैरिस (कैलिफ़ोर्निया), क्रिस्टीन गिलबरंड (न्यूयॉर्क), सांसद तुलसी गाबार्ड (हवाई) और मरिएने विलियम्सन हैं. साल 1972 में पहली बार एक डेमोक्रेट अश्वेत महिला सांसद शिरले चिज़म राष्ट्रपति चुनावी डिबेट में शामिल हुई थीं.

उसके बाद 2004 में अन्य अश्वेत महिला सिनेटर मोज़्ली बरुन डिबेट में आईं, जबकि मीशेल बचमैन्न(सांसद मिनिसोटा), कार्ली फ़ीऑरीना 2012 और हिलेरी क्लिंटन 2016 में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बनीं. इनमें अभी तक एक भी रिपब्लिकन महिला उम्मीदवार ने राष्ट्रपति चुनाव में भाग नहीं लिया

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!