Breaking News

मायके से भागी विवाहिता का रस्ते में ऐसे हुआ सामूहिक दुष्कर्म, पूरा मामला जानकार आयेगा पसीना

पीड़िता के मुताबिक, घटना मंगलवार की रात करीब डेढ़ से 2 बजे की है। मायके से भागने के बाद वह मुंबई जाने के लिए रात के बारह बजे ट्रेन पकड़ने राजेन्द्र नगर रेलवे स्टेशन पहुंची थी। लेकिन उसके पहुंचने के पहले ट्रेन छूट चुकी थी। दूसरी ट्रेन के इंतजार में वह जंक्शन के आसपास ही भटक रही थी। उसे अकेली देख ई-रिक्शा चालक दीपक ने कहा कि अकेले कहां जाओगी।

विवाह से नाखुश होकर मायके से भाग कर पटना पहुंची विवाहिता (19 वर्ष) के साथ राजेन्द्र नगर पुल के नीचे दो युवकों ने गैंगरेप किया। पीड़िता की शिकायत पर कदमकुआं पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपित 2 युवकों सहित 3 को अरेस्ट कर लिया। पुलिस को दिए गए बयान में विवाहिता ने बताया है कि पकड़ा गया तीसरा शख्स उसे बचाना चाह रहा था लेकिन उसके साथ मारपीट की गई। पुलिस पकड़े गए तीसरे शख्स से भी पूछताछ कर रही है।

loading...

वह ई-रिक्शा पर बैठाकर मुझे अपने घर ले जाने लगा। इतने में दो युवक छोटू और रंजीत पीछे पड़ गए। इन दोनों युवकों ने पहले ई-रिक्शा चालक दीपक से मारपीट की। बाद में मुझे उठाकर राजेन्द्र नगर पुल के नीचे ले गए। इसके बाद दोनों ने एक ठेले पर मेरे साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। घटना को अंजाम देने के बाद तीनों मुझे राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन छोड़ने जा रहे थे। इतने में दीपक ने आरपीएफ को घटना की जानकारी दे दी। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से आरोपित पकड़े गए।

आवेदन देने पर कदमकुआं थाने में सामूहिक बलात्कार की प्राथमिकी दर्ज की गई। तीनों से पूछताछ की जा रही है। वहीं बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया। नालंदा निवासी दुष्कर्म पीड़िता की शादी 18 मई 2018 को हुई थी। पीड़िता की ससुराल पटना में है। शादी के बाद वह सिर्फ 6 महीने ही ससुराल में रही थी। वह शादी से खुश नहीं थी। इसके चलते ही वह नालंदा स्थित मायके से भागकर पटना चली आई।

मां बाप हमेशा ससुराल जाने की बात करते थे, इससे नाराज होकर वह 16 जून को मायके से भी भाग गई। मायके से आने के बाद कदमकुआं के अमरुदी गली में एक अनजान महिला के घर रह रही थी। 17 जून की रात को मुंबई भागना चाहती थी, लेकिन इससे पहले उसके साथ शर्मनाक घटना घटित हो गई।

कदमकुआं पुलिस ने विवाहिता द्वारा दिये गए बयान का हवाला देते हुए उसकी उम्र 16 वर्ष दर्ज की है। बयान में पीड़िता 2017 में ही मैट्रिक की परीक्षा पास की थी। रेप पीड़िता के वास्तविक उम्र का पता करने के लिए बिहार शरीफ के थरथरी थाना प्रभारी से गुमशुदगी रिपोर्ट के बारे में जानकारी मांगी। इसमें थाना प्रभारी ने बताया कि रिपोर्ट में विवाहिता की उम्र 19 वर्ष दर्ज करायी गई है। ऐसे में सवाल उठता है कि कदमकुआं पुलिस को पीड़िता ने किस दबाव में अपनी उम्र कम बतायी? वहीं पीड़िता की उम्र कम करने की वजह भी सवालों के घेरे में है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!