Breaking News

मेवाड़ में लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी को भाजपा से मिल रही तगड़ी चुनौती

राजस्थान में मेवाड़ क्षेत्र की सियासी सम्मान इसी बात से समझी जा सकती है कि कांग्रेस पार्टी यहां से जीत पंजीकृत करने के लिए हर उपाय आजमा रही है मेवाड़ क्षेत्र की भीलवाड़ा लोकसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी को भाजपा से तगड़ी चुनौती मिल रही है भाजपा के किसी बड़े नेता ने सारे चुनाव प्रचार अभियान के दौरान क्षेत्र में एक भी रैली नहीं की है इसके उलट कांग्रेसशासित हर बड़े प्रदेश के नेता कम से कम दो बार इस संसदीय क्षेत्र का दौरा कर चुके हैं

राजस्थान कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष  उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने शनिवार को ही असिंद में बड़ी जनसभा की वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने छोटी सी प्रेस कांफ्रेंस कर औपचारिकता निभा दी पायलट की रैली के लिए गुर्जरों के धर्मस्थल सवाई भोज का चुनाव किया गया, ताकि उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज गुर्जरों के एक धड़े को मनाया जा सके

भीलवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में 3.5 लाख ब्राह्मण हैं, जबकि 2.5 लाख गुर्जर हैं इसके अतिरिक्त 2 लाख जाट  करीब 6 लाख एससी-एसटी मतदाता हैं राजस्थान कांग्रेस पार्टी के दो धड़ों में बंटने की अटकलों को खारिज करने की प्रयास के तहत अशोक गहलोत  सचिन पायलट ने प्रदेश में कई रैलियां कीं भीलवाड़ा सीट से 2009 में कांग्रेस पार्टी के सीपी जोशी ने जीत हासिल की थी इस बार कांग्रेस पार्टी ने रामपाल शर्मा को मैदान में उतारा है कांग्रेस पार्टी की प्रयास है कि भाजपा से नाराज चल रहे ब्राह्मणों को अपनी ओर खींचा जा सके

भीलवाड़ा सीट पर दो से ज्यादा बार नहीं जीता कोई भी प्रत्याशी 

loading...

भीलवाड़ा से कभी कोई प्रत्याशी दो से ज्यादा बार नहीं जीत सका है भाजपा प्रत्याशी सुभाष बहेरिया इस तिलिस्म को तोड़ने के लिए तीसरी बार इस सीट से मैदान में हैं कागजों पर ही सही, लेकिन बहेरिया के तीसरी बार मैदान में होने  भाजपा के ज्यादा ध्यान नहीं देने जैसे कारणों के चलते कांग्रेस को इस सीट पर जीत की पूरी उम्मीद है वहीं, भाजपा भीलवाड़ा समेत सारे प्रदेश में मोदी लहर के भरोसे चुनाव लड़़ रही है सैनी ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान स्वच्छ हिंदुस्तान से लेकर मिशन शक्ति तक नरेन्द्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं

भीलवाड़ा शहर से जब्त हो गई थी कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी की जमानत
बहेरिया को भाजपा  संघ दोनों का समर्थन हासिल है राजस्थान विधानसभा चुनाव में भीलवाड़ा की आठ सीटों में कांग्रेस पार्टी को सिर्फ तीन पर ही जीत मिली थी भीलवाड़ा शहर विधानसभा सीट पर कांग्रेस पार्टी प्रत्याशी अशोक चांदना की जमानत जब्त हो गई थी लोकसभा चुनाव 2014 में बहेरिया को भीलवाड़ा के 60 प्रतिशत मत हासिल हुए थे पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर जीत के भरोसे ही भाजपा ने बहेरिया को फिर इस सीट से प्रत्याशी बनाया है

भीलवाड़ा क्षेत्र के मतदाताओं के रुख पर प्रभाव डालने वाले मुद्दे
भीलवाड़ा संसदीय क्षेत्र में पलायन बड़ा मामला है इसके अतिरिक्त बेरोजगारी  पीने के पानी की किल्लत मतदाताओं के रुख पर प्रभाव डालने वाले मसले हैं हालांकि, इस क्षेत्र को कपड़ा मिलों के लिए जाना जाता है, जिनमें बहुत बड़ी मात्रा में पानी का प्रयोग होता है मोदी लहर के चलते कोई भी आम लोगों से जुड़े ये मामले उठाने को तैयार नजर नहीं आ रहा है

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!