Breaking News

कोलंबो में हुए ब्‍लास्‍ट्स में शामिल थे 6 आतंकी

श्रीलंका ने गुरुवार को उन छह संदिग्‍धों की फोटोग्राफ्स जारी कर दी हैं जो 21 अप्रैल को कोलंबो में हुए ब्‍लास्‍ट्स में शामिल हैं। इनमें तीन महिलाओं की भी फोटोग्राफ है। श्रीलंका पुलिस की ओर से बताया जा चुका है आठ सीरियल ब्‍लास्‍ट्स को नौ सुसाइड बॉम्‍बर्स ने अंजाम दिया था। एक सुसाइड बॉम्‍बर्स में एक महिला भी शामिल थी। कोलंबो में हुए ब्‍लास्‍ट्स की जिम्‍मेदारी आईएसआईएस ने ली थी। सरकार की मानें तो हमलों में नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के आतंकी शामिल थे। ईस्‍टर संडे के मौके पर एक के बाद एक आठ सीरियल ब्‍लास्‍ट्स के साथ ही यहां पर एक दशक से जारी शांति भी खत्‍म हो गई है।

आतंकियों के नाम पहली बार सार्वजनिक
श्रीलंका की ओर से जो तस्‍वीरें जारी की गई हैं उन्‍हें आतंकियों की नाम के साथ रिलीज किया गया है। इसके साथ ही श्रीलंका पुलिस ने सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया है। गुरुवार को भी पुलिस ने 16 और लोगों को गिरफ्तार किया है। ब्लास्‍ट के सिलसिले में अब तक 76 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। श्रीलंका के तीन चर्चों और तीन लग्‍जरी होटल्‍स में रविवार को सुसाइड ब्‍लास्‍ट्स हुए थे।

loading...

सारी रात चल रहा है सर्च ऑपरेशन

जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उनके साथ लगातार पूछताछ की जा रही है। कई लोगों के पर एनटीजे के साथ संबंध होने का शक है। अभी तक हालांकि एनटीजे की तरफ से हमलों की जिम्‍मेदारी लेने वाला कोई भी बयान नहीं आया है। वहीं पुलिस को शक है कि गिरफ्तार लोगों में से कई लोगों के संगठन के साथ संबंध हैं। कहीं न कहीं बॉम्बिंग से इनका ताल्‍लुक है। श्रीलंका में इस समय हजारों की संख्‍या में पुलिस फोर्स और सेना तैनात है। सारी रात सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया जा रहा है।

देश भर में तैनात 6300 सैनिक

देश भर में 5,000 से ज्‍यादा सेना के जवानों को तैनात कर दिया गया है। मिलिट्री प्रवक्‍ता ब्रिगेडियर सुमित अट्टापट्टू की ओर से कहा गया है कि पिछले 24 घंटे में कोई बड़ी घटना नहीं हुई है। करीब 6,300 जवानों को तैनात किया गया है। इसमें 1,000 जवान एयरफोर्स के तो 600 नेवी के हैं। गुरुवार को कोलंबो से करीब 40 किलोमीटर दूर पुगोडा टाउन में एक हल्‍का धमाका हुआ था। पुलिस की ओर से बताया गया था कि यह ब्‍लास्‍ट एक कूड़े के ढेर में हुआ था जिसकी जांच की जा रही है।

सेना और पुलिस को नए अधिकार

श्रीलंका में अब सेना और पुलिस को अधिकार दे दिए गए हैं कि वह सर्च ऑपरेशन के दौरान संदिग्‍ध संपत्तियों की तलाशी ले सकती है, उन्‍हें सीज कर सकती है, लोगों को गिरफ्तार कर सकती है और उन्‍हें हिरासत में रख सकती है साथ ही कभी भी रोड ब्‍लॉक्‍स को लगा सकती है। यह सारे नियम श्रीलंका में इमरजेंसी कानून के तहत हाल ही में लागू किए गए हैं। इन नए नियमों के लिए संसद में किसी तरह की वोटिंग नहीं कराई गई थी। साथ ही अब कर्फ्यू भी रात 10 बजे लगाया जाएगा। लोकल कैथोलिक चर्च के मुखिया मैल्‍कम कार्डिनल रंजीत ने सभी चर्चों से हालत सुधरने तक संडे मास बंद करने को कहा है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!