Breaking News

श्रीलंका में ईस्टर पर्व के मौके पर हुए 8 सीरियल बम धमाकों से दहल उठी पूरी दुनिया

श्रीलंका में ईस्टर पर्व के मौके पर हुए 8 सीरियल बम धमाकों से पूरी दुनिया दहल उठी। इन धमाकों में अब तक करीब 215 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 500 लोग घायल हो चुके हैं। पुलिस के प्रवक्ता रूवन गुणशेखरा ने बताया कि यह श्रीलंका में हुए अब तक के सबसे खतरनाक हमलों में से एक है।

आज और कल देश के सभी स्कूल बंद
बम धमाकों के बाद आज और कल देश के सभी स्कूल बंद हैं प्रशासन ने लोगों से शांति से बनाए रखने की अपील की है, सोशल मीडिया को भी बैन कर दिया गया है। मामले में 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सरकार ने पूरे देश में कर्फ्यू लगा दिया गया है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

loading...

भयानक, दर्दनाक और दिल को डराने वाला था मंजर
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक इस घटना के बाद जो मंजर देखने को मिला वो बेहद ही भयानक, दर्दनाक और दिल को डराने वाला था, किसी को अंदाजा ही नहीं था कि जो लोग पर्व पर अपने घरों से तैयार होकर यीशु की प्रार्थना के लिए चर्च जा रहे हैं, वो कभी वापस ही नहीं आएंगे।

आखिर हमारा क्या कसूर है?
जगह-जगह लोगों का खून और शरीर चिथड़ों की तरह बिखरे पड़े थे, जिसे देखकर लोगों का कलेजा फटने को आ गया, एक सेंकड में लोगों की दुनिया उजड़ चुकी थीं, रोती-बिलखती आंखें सिर्फ ये पूछ रही थीं कि आखिर हमारा क्या कसूर है?

हमलावरों के निशाने पर कैथोलिक्स (Catholics) थे?
आपको बता दें कि इतनी बड़ी साजिश को अंजाम देने के लिए सुसाइड बॉम्बर का इस्तेमाल किया गया है। हमले को देखकर लगता है कि हमलावरों के निशाने पर कैथोलिक्स (Catholics) थे। क्योंकि, इतने बड़े सीरियल धमाकों को ईस्टर के दिन अंजाम दिया गया है और बड़े चर्च और होटल को टारगेट किया है।

पूरे देश में हाई अलर्ट
फिलहाल पूरे देश में हाई अलर्ट जारी है और सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है। लोगों को फिलहाल अपने घरों में ही रहने की सलाह दी गई है। गौरतलब है कि इन धमाकों में सेंट एंथनी चर्च, कोलंबो, सेंट सेबेस्टियन चर्च, पश्चिम तटीय कस्बा नेगोंबो, सेंट माइकल चर्च, पूर्वी कस्बा बट्टीकलोआ चर्च को जबकि सांगरी ला, सिनामन ग्रैंड और किंग्सबरी होटल को निशाना बनाया गया है, मरने वालों में तीन भारतीय भी शामिल हैं।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!