Breaking News

रोहित की मौत सामान्य नहीं दिल्ली पुलिस, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ ये बड़ा खुलासा

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे मरहूम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि रोहित शेखर की ‘अप्राकृतिक मौत’ हुई है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि तकिये से मुंह दबाकर रोहित की हत्या की गई थी। वहीं, इस मामले में दिल्ली क्राइम ब्रांच रोहित शेखर तिवारी की पत्नी से पूछताछ कर रही है।

दिल्ली पुलिस

loading...

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने कहा था कि रोहित की स्वभाविक मौत नहीं हुई है। इस मामले में अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत केस भी दर्ज कर लिया गया है। रोहित की मौत के मामले को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है। शुक्रवार को फॉरेंसिक और क्राइम ब्रांच की टीमें रोहित के आवास पर मामले की जांच के संबंध में पहुंची थी। वहीं, आज रोहित की पत्नी से पूछताछ की जा रही है। साल के रोहित अपने घर में मृत पाए गए थे। उनकी नाक से खून बह रहा था। जिसके बाद उनकी मां और पत्नी उन्हें अस्पताल लेकर गए थे, जहां पर उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था।

एनडी तिवारी
पत्नी से पूछताछ करने पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

रोहित की मां ने भी उनकी मौत के समय के हालात पर संदेह जाहिर किया था। उन्होंने कहा था, ‘मुझे रोहित शेखर की मृत्यु को लेकर किसी भी तरह का शक नहीं है, लेकिन किन परिस्थितियों की वजह से उसकी मौत हुई है, इसका खुलासा मैं बाद में करूंगी।’ रोहित शेखर 2017 में भाजपा में शामिल हुए थे। हालांकि वो राजनीतिक तौर पर सक्रिय नहीं थे। रोहित एनडी तिवारी और उज्जवला शर्मा के बेटे थे।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट
‘तकिए से मुंह दबाकर की गई रोहित की हत्या’
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि, रोहित शेखर की मौत ‘अप्राकृतिक’ कारणों के चलते हुई है। दिल्ली पुलिस की ओर से दावा किा गया है कि, रोहित शेखर की हत्या संभवत: तकिए से मुंह दबाकर की गई है। सूत्रों के अनुसार, पुलिस को रोहित तिवारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सोमवार रात करीब साढ़े सात बजे मिल गई थी। इस केस को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा में स्थानांतरित कर दिया गया है जिसने हत्या का मामला दर्ज किया है।

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!