Breaking News

जेट एयरवेज के स्टाफ से अपने पैसे की मांग कर रहे यात्री

जेट एयरवेज ने बुधवार रात से अस्थायी रूप से अपनी सभी उड़ानें स्थगित कर दीं, जिसके बाद मुंबई एयरपोर्ट पर कई यात्रियों ने पहुंचकर अपना पैसा रिफंड करने की मांग की. जिन यात्रियों ने पहले से टिकट करा रखा है उनके सामने ये संकट है कि उनका पैसा कब वापस मिलेगा. यात्री परेशान होकर एयरपोर्ट पर जेट एयरवेज के स्टाफ से अपने पैसे की मांग करने लगे, वहीं जेट के कर्मचारी खुद कई महीनों से सैलरी नहीं मिलने से परेशान हैं, इस मुश्किल में वो उनकी क्या मदद कर पाएंगे.

जेट एयरवेज की फ्लाइट 9W 2502 अमृतसर-मुंबई-दिल्ली आखिरी उड़ान थी. जेट एयरवेज की उड़ानें स्थगित करने का फैसला ऑपरेशन के लिए जरूरी मिनिमम इंटरिम फंड 400 करोड़ रुपये जुटाने में विफल रहने पर लिया है.

loading...

जेट एयरवेज की सर्विस बंद होने की वजह से दूसरे एयरलाइंस ने अपने किराये में बढ़ोतरी कर दी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घरेलू उड़ानों में करीब 20 फीसदी और इंटरनेशनल उड़ानों में 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

16,000 कर्मचारियों का क्या होगा?

जेट एयरवेज की उड़ानें बंद होने का सीधा असर एयरलाइंस के 16,000 से ज्यादा कर्मचारियों पर पड़ेगा. क्योंकि उड़ानें बंद होने से 26 साल पुरानी एयरलाइन के अस्थायी तौर पर बंद होने से उनके सामने रोजगार का संकट खड़ा हो जाएगा.

जेट एयरवेज के सीनियर कमांडर असीम वालियानी ने बताया कि एयरलाइंस के पायलटों को बीते साढ़े तीन महीनों से कोई सेलरी नहीं मिली है. इसके अलावा बाकी कर्मचारियों को एक महीने की सैलरी नहीं मिली है.

Share & Get Rs.
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!